जानिए, कितना फायदेमंद होता है दांतों के लिए टूथपेस्ट

हम सब सुबह उठते ही खूब ब्रश करते है क्योकि ब्रश करने से हमारे दांत विल्कुल सही रहते है। जब भी छोटे बच्चे ब्रश नहीं करते है तब उन्हें बोला जाता है कि ब्रश करो नहीं तो दांतों में कीड़े लग जाएगे, दांत पीले हो जाएगे या दांत सड़ जाएगे। हम लोग ब्रश करते है जिससे कि हमारे दांत विल्कुल सफेद रहे, पीले न दिखे। लेकिन सवाल यह है कि क्या सच में टूथेपेस्ट से हमारे दांतों में चमक आती है? तो चलिए आपको बताते है इसके बारे में..

व्हाइटनिंग टूथपेस्ट का असर- बहुत सारे टूथेपेस्ट ऐसे होते है जो दांत चमकाने का दावा करते हैं असल में वह इनैमल (दंतवल्क) के लिए नुकसानदायक होते हैं। कई टूथपेस्ट में तो ऐसे केमिकल डाले जाते हैं जो इनैमल को क्षतिग्रस्त कर देते हैं । इसके अलावा ऐसे टूथपेस्ट से दांतो के बाहरी कवच को घिसने से दांत खुरदरे और कमजोर हो जाते हैं ।

लाभ से ज्यादा हानि- दरअसल व्हाइटनिंग टूथपेस्ट दांतो के लिए फायदे से ज्यादा हानिकारक होते हैं। क्योंकि इनसे दांत घिसने पर दांतों की बाहरी परत कमजोर हो जाती है जिससे चाय, कॉफी, वाइन इत्यादि के धब्बे दांतो पर दिखाई देने लगते हैं और दांत फीके दिखाई देते हैं।

चेतावनी- डॉक्टरों का भी यही मानना है कि ऐसे टूथपेस्ट से दांतों की ज्यादा सफाई करने पर दांतों को लाभ की जगह हानि होती है।

उपाय- हमें दांत चमकाने से ज्यादा हमारे दांतों को स्वस्थ रखना जरूरी है और इसके लिए समय समय पर अपने मसूड़ों की मालिश करनी चाहिए। इसके अलावा हर बार खाना खाने के बाद कुल्ला जरूर करें जिससे की दांतों में किसी तरह की गंदगी ना जमे, दांत साफ रहे, दांतों की चमक भी बनी रहे।