वज़न कंट्रोल करने के लिए ग्लूटेन और डेयरी प्रोडक्ट से परहेज़ करना कितना असरदार है जानिए

वज़न का बढ़ना आसान काम है, लेकिन उसे घटाना बेहद मुश्किल काम है। वज़न कंट्रोल करने के लिए लोग डाइट पर कंट्रोल करने से लेकर जिम में घंटों वर्कआउट करते हैं, तब भी जिद्दी मोटापा से निजात नहीं मिलती। कभी आपने सोचा है कि आप डाइट पर कंट्रोल करते हैं, साथ ही जिम भी करते हैं फिर भी आपका वज़न कंट्रोल क्यों नहीं होता? क्योंकि वज़न कंट्रोल करने के लिए खाने से परहेज़ और एक्सरसाइज ही काफी नहीं है, बल्कि आपको अपनी डाइट से डेयरी प्रोडक्ट और ग्लूटेन को निकाला होगा तभी आपका तेजी से वज़न कम होगा।

डेयरी और ग्लूटन फ्री डाइट किस तरह फायदेमंद है:

माना जाता है कि डाइट से डेयरी और ग्लूटेन वाले फूड को निकालने से पाचन और ऊर्जा के स्तर में सुधार होता है। डेयरी उत्पादों को छोड़ने से बॉडी को अतिरिक्त सेचुरेटेड वसा, चीनी, नमक और कैलोरी की मात्रा कम करने में मदद मिलती है। यदि आप अपने आहार से ग्लूटेन से भरपूर खाद्य पदार्थों को निकालते हैं तो आपके मूड में सुधार होता है, साथ ही ऊर्जा के स्तर में भी सुधार होता है। इस डाइट से हार्मोनल फ़ंक्शन को बनाए रखने की संभावना बढ़ जाती है। आइए जानते हैं कि किस तरह डेयरी और ग्लूटन डाइट से परहेज करके वज़न को कंट्रोल रखा जा सकता है।

डेयरी और ग्लूटन फ्री डाइट से कैसे करें मोटापा कंट्रोल:

डाइट में डेयरी और ग्लूटन वाले फूड्स से परहेज़ करके मोटापा कंट्रोल किया जा सकता है। डेयरी प्रोडक्ट में जानवरों से मिलने वाला दूध और दूध से बने पदार्थ शामिल हैं, जबकि ग्लूटेन एक प्रोटीन है, जो कई अनाजों में पाया जाता है।

किस तरह वज़न कम करने में यह डाइट है असरदार:

इस डाइट का मुख्य मकसद उन खाद्य पदार्थों से बचना है, जिनमें डेयरी, डेयरी डिरेटिव और ग्लूटेन शामिल है। ग्लूटन और डेयरी प्रोडक्ट हमारी डेली डाइट का हिस्सा है। ये दोनों ही हमारे रोज के खाद्य पदार्थेां में अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। ग्लूटेन से पूरी तरह से बचने के लिए व्यक्ति को साबुत अनाज, नट, बीज, सब्जियां, गैर गेहूं वाले अनाज का सेवन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- ज़रूरत से ज़्यादा पिएंगे काढ़ा तो सेहत को होंगे ये बहुत नुकसान