जानिए कैसे, अब आप हवा में कर सकते है रोगों की पहचान

अमेरिका के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा सेंसर विकसित किया है, जो वायु में जहरीले तत्वों और सांस में रोग चिन्हों की बहुत जल्द पहचान कर सकता है।

इसके साथ ही यह रोग के चरणों की भी जानकारी देने में पूरी तरह सक्षम है। इलिनॉइस यूनिवर्सिटी के शोध दल ने बताया कि जैविक प्लास्टिक का एक छोटा और पतला वर्गाकार तंत्र जल्द ही पोर्टेबल और डिस्पोजेबल सेंसर उपकरणों का आधार बन सकता है। यिंग डियाओ के नेतृत्व में शोध दल ने इस उपकरण का जबरदस्त प्रदर्शन किया।

इस दौरान इस उपकरण ने सांस में अमोनिया की जांच की और गुर्दे की विफलता का संकेत प्रदर्शित किया। डियाओ ने कहा, “चिकित्सकों ने इन यौगिकों का पता लगाने और विश्लेषण करने के लिए उपकरणों का भारी मात्रा में उपयोग किया है, लेकिन हम रोगियों को एक सस्ता सेंसर चिप देना चाहते हैं, ताकि वे इसका इस्तेमाल कर सकें और इसके बाद इसे फेंक सकें।”

फिलहाल यह शोध दल मरीज के स्वास्थ्य की सटीक जानकारी पाने के लिए कई क्रियाकलापों में सक्षम सेंसर बनाने पर भी काम कर रहा है।

यह भी पढ़ें-

स्विमिंग, महिलाओं की इन दिक्कतों को आसानी से दूर करती है !