जानिए कैसे पीपल के पत्ते का पेस्ट लगाकर रातोंरात झुर्रियों से मुक्ति पा सकते

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बहुत महत्व दिया जाता है। इसे न केवल धर्म से जोड़कर बल्कि वनस्पति विज्ञानऔर आयुर्वेद के अनुसार बहुत फायदेमंद माना जाता है। यह एक ऐसा पेड़ है जो की 24 घंटे हमें ऑक्सीजन देता है, जबकि अन्य पेड़ रात में कार्बन डाईऑक्साइड या फिर नाइट्रेट छोड़ते हैं। यह एक ऐसा वृक्ष है जो सूर्य के ताप को तो रोक लेता है परंतु उसके उजाले को नहीं रोकता। इसलिए पीपल के पेड़ के नीचे छाया के साथ साथ रोशनी भी होती है।

पीपल के पेड़ के फायदे

पीपल के पेड़ के नीचे रहने वाले लोग बुद्धिमान, निरोगी और अधिक उम्र वाले होते हैं।लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस पेड़ का पत्ता कई बीमारियों को दूर करने के साथ-साथ आपकी स्किन को भी खूबसूरत बना सकता है। आज हम आपको बताने वाले है पीपल के पत्ते के ऐसे ही कुछ चमत्कारी फायदे जिन्हे जानकार आप इसका इस्तेमाल शुरू जरूर करेंगे।

झुर्रियों के लिए लाभदायक

चेहरे की झुर्रियों को दूर करने के लिए पीपल का पेड़ बहुत ही लाभदायक होता है। झुर्रियों के लिए पीपल के पेड की जड़ को पानी में भिगोकर अच्छे से पीस लें और फिर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर तब तक लगाएं। जब तक यह अच्छे से सूख न जाएँ सूखने के बाद चेहरे को अच्छे से धो लें। इस पैक को नियमित रूप से लगाने पर चेहरे की बढ़ती हुई उम्र की वजह से आई हुई झुर्रियां खत्म हो जाती है।

दाद खाज और खुजली के लिए

अक्सर मौसम बदलने पर या गर्मी के अधिक मौसम में हमें दाद खाज जैसी समस्या से गुजरना पड़ता है। पीपल के चार-पांच कोमल पत्तों को चबा कर खाने और छाल का काढ़ा बनाकर आधा कप पीते रहने से दाद, खाज, खुजली से निजात मिलती है।

पेट दर्द को ठीक करें

कब्ज, गैस और पेट दर्द आदि की समस्या को दूर करने के लिए पीपल के ताजे पत्तों का जूस सुबह शाम पिए। जब आप इस जूस का सेवन करते हो तब आपका वात और पित्त भी ठीक हो जाता है।

दमा के लिए

जो लोग दमा से पीड़ित होते हैं उनके लिए पीपल किसी वरदान से कम नहीं हैं। पीपल की छाल के अंदर का भाग निकाल कर सुखा लें। इसे महीन पीस कर चूर्ण बना लें। यह चूर्ण दमा के रोगियों के लिए लाभ दायक है। सुबह-शाम एक चम्मच सेवन करें।

नकसीर में लाभदायक

गर्मियों के दिनों में अक्सर नकसीर फूटने लगती है। ऐसे में पीपल के पत्ते बहुत कारागार सिद्द होते हैं क्योंकि जब नकसीर निकलती है। तब पीपल के पत्तों का रस निकालकर नाक में टपकाने से नाक से लगातार बह रहा खून रुक जाता है और नकसीर जैसी समस्या से आराम मिलता है।

यह भी पढ़ें-

प्रेग्नेंसी में भूलकर भी न खाएं ये फल, वरना हो सकती है मुसीबत