जानिए मधुमेह रोगी शहद का कैसे करें इस्तेमाल ?

शहद का इस्तेमाल बहुत सी चीज़ों के लिए किया जाता है। शहद को पचाने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि यह अपने आप में ही एक पाचक खाद्य पदार्थ है। इसका उपयोग करने से तन को प्रत्यक्ष रूप से शक्ति मिलती है जिसका प्रयोग बच्चे, बूढ़े, जवान और बीमार इंसान सभी कर सकते है। आमतौर पर शुगर के रोगियों को शहद का उपयोग करने के लिए मना किया जाता है क्योंकि वह उनके लिए लाभदायक नहीं होता। लेकिन डायबिटिक रोगी एक नए प्रकार के शहद का प्रयोग कर सकते है। उनके लिए नीम के पेड़ों के फूल से बना हुआ शहद बहुत फायदेमंद होता है। ध्यान में रखे कि इस शहद का ज्यादा मात्रा में उपयोग करना भी हितकारी नही है। यह मधुमेह रोगी को हानि पहुंचा सकता है।

 शुगर के रोगी के लिए शहद का उपयोग करने के तरीके

मधुमक्खियों द्वारा बनाये जाने वाले छत्ते पर ही शहद की क्वालिटी निर्भर करती है। मधुमक्खी के छत्ते के पास में लगे फूलों की गुणवत्ता शहद में इक्खटी रहती है। मधुमेह रोगियो के लिए जामुन पर लगे छत्ते का शहद बहुत सहायक होता है। शहद जल्द ही डाइजेस्ट होकर रक्त में मिल जाता है। इसका उपयोग दूध, दही, पानी, सब्जी, सूप, फलों के रस में मिलाकर किया जा सकता है।

शुगर में आंवले के रस को हल्दी व शहद में मिलाकर उसका उपयोग करना डायबिटिक रोगियों के लिए लाभदायक होता है।

 डायबिटिक रोगियों के लिए शहद के लाभ

शुगर की मात्रा और कोलस्ट्रोल को कंट्रोल करने में शहद बहुत फायदेमंद होता है।

शहद शरीर को ताकतवर बनाता है। डायबिटिक पेशेंट्स द्वारा इसका उपयोग अगर कम मात्रा में किया जाए तो यह बहुत लाभकारी होता है। हर रोज़ इसका 1 चम्मच सेवन करना फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें-

सेहत के लिए पके केले बहुत फायदेमंद है, जानिए कैसे ?