जानिए कैसे पा सकते मोटापे पर कंट्रोल

डाइट कंट्रोल और हमेसा एक्सरसाइज के बावजूद भी कुछ लोगों का वजन कम नहीं होता है या बहुत धीरे-धीरे कम होता है। दरअसल, यह सब मेटाबॉलिज्म के कारण होता है। मेटाबॉलिज्म रेट कम होने के कारण आप अपना मनचाहा वजन पूर्ण्तः कम नहीं कर पाते। यह शरीर को एनर्जी प्रोवाइडर करने और सेल्स बनाने में भी मदद करता है। इसे प्रकिया धीमा होने पर मोटापा, थकावट, डायबीटीज, अधिक बीपी की संभावना अत्यधिक बढ़ जाती है। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताएंगे, जिससे आपका मेटाबॉलिज्म ठीक रहेगा। इससे आपका वजन भी कम हो जाएगी और आपको सेहत से जुड़ी कोई प्रॉब्लम भी नहीं होगी।

अपनाए सही डाइट
अपनी डाइट में अधिक से अधिक एंटीऑक्सीडेंट वाले फूड्स को शामिल करें। इसके अलावा मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए डाइट में में कम से कम 5 अलग-अलग रंग के फल या सब्जियों को जरूर शामिल करें। इससे आपका मेटाबॉलिज्म भी बढ़ेगा। इससे आपको कभी दिल की बीमारी और याददाश्त से जुड़ी कोई प्रॉब्लम भी नहीं होगी।

समय पर कुछ-न-कुछ खाना
कोशिश करें कि आप दिन में तीन बार कुछ न कुछ खाए यानि ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर अवश्य करें। इसके अलावा आप बीच में कोई फूड भी खा सकते हैं। इससे आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ेगा और आपको अपच-एसिडिटी जैसी गंभीर समस्या नहीं होगी।

एवोकाडो का सेवन
एवोकाडो में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट और इन्फ्लेमेशन गुण मेटाबॉलिज्म को पूर्ण्तः स्थिर रखता है। इसके साथ ही इससे आप ब्लड शुगर जैसी प्रॉब्लम से भी बचे रहते हैं। इसलिए अपनी डाइट में इसे जरूर शामिल करें।

ग्रीन टी
रोजाना कम से कम 2 बार ग्रीन टी का सेवन मेटाबॉलिज्म रेट को बढ़ाने में मदद करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण कैलोरी बर्न करने में मदद करते हैं, जिससे आपका मोटापा नियंत्रित रहता है।

साबुत अनाज
संतुलित साबुत अनाज और इसके नियमित सेवन से आप अपने मैटाबाॅल्जिम को बढ़ाने के साथ-साथ फैट को कम और हार्मोनों को पूर्ण्तः संतुलित रख सकते हैं। इनके सेवन से शरीर के विषैले तत्व बाहार निकल जाते हैं। साबुत अनाजों में मौजूद पोषक तत्व और कार्बोहाइड्रेट हमारे इंसुलिन के स्तर को पूरी तरह स्थिर करके मैटाबाॅल्जिम को बढ़ाने का काम करते हैं।

यह भी पढ़ें-

गाय के घी का करें सेवन, सेहत के लिए होगा बहुत फायदेमंद