जानिए कैसे नाखूनों पर बने निशान से भी आपका भविष्य देखा जा सकता है

हाथ की लकीरों को देख कर ही आपका भविष्य बताया जा सकता है। इतना ही नहीं आपकी हथेली पर अनेको रोज छिपे होते हैं। जिस तरह हाथों की उंगलियों के आकार को देख आपका कैरेक्टर पता चल जाता है उसी तरह नाखूनों पर बने निशान भी आपके बारे में बहुत कुछ कहते हैं।

नाखूनों पर निचले हिस्से में आधा चांद बना होता है, जो नाखून के बाकी हिस्सों के अपेक्षाकृत ज़्यादा सफ़ेद होते हैं। आपने कभी सोचा है कि आखिर ये क्यों होते हैं? दरअसल, ये नाखून का एक अहम हिस्सा होता है। इस हिस्से को लैटिन भाषा में Lunala कहा जाता है। हिंदी में इसको छोटा चांद कहा जाता है। ये महज़ एक डिज़ाइन नहीं है, ये आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत से राज़ खोलता है।

चीन का परम्परागत स्वास्थ्य समुदाय ऐसा मानता है कि ये किसी के स्वास्थ्य को मापने का बैरोमीटर होता है। Lunula की स्थिति आपके स्वास्थ्य का सूचक होती है। जब आपका स्वास्थ्य सही नहीं होता तो ये लगभग नाखून से गायब हो जाते हैं। स्वास्थ्य सही होने के साथ ही ये निशान वापस अपनी पुरानी अवस्था में लौट आते हैं।

क्या कहते हैं Lunula आपके स्वास्थ्य के बारे में?

सामान्य Lunula

अगर 10 उंगलियों के नाखूनों में से 8 के Lunula दूधिया सफ़ेद रंग के हों, तो आपका स्वास्थ्य बहुत बेहतर है। फिर आपको फिक्र करने की ज़रूरत नहीं।

कम हो रहे Lunula

अगर आपकी उंगलियों के नाखूनों में से ये लगातर गायब होते जा रहे हैं या बस अंगूठे में ही Lunula बचे हैं, तो आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग होने की ज़रूरत है और आप जल्द ही बीमार पड़ने वाले हैं। मेडिकल एक्सपर्ट्स का ऐसा मानना है कि ये आधे चांद आपके शरीर से जुड़े अन्य कई रोगों और बातों का खुलासा करते हैं। साथ ही साथ ये आपके शरीर में आयरन की कमी, थाएरॉएड या Pituitary Gland की बिमारियां हो सकती हैं। इसलिए लगातार इस पर नज़र गड़ाए रखिये क्योंकि क्या पता कब ये आपके स्वास्थ्य के ख़राब आपको अहम जानकारी दे दें।

यह भी पढ़ें-

नहीं जानते होंगे आप अजवायन उपयोग करने के ये फायदे