जानिए Plant Based Diets लेने के क्या है लाभ

प्लांट बैस्ड डाइट, जिनमें सब्जियां, फल, बीन्स और एनिमल युक्त जैसे पदार्थ भी शामिल होते है। बेहतर होगा कि आप मांसाहारी खाने के बजाएं फल, सब्जियों का ज्यादा सेवन करें क्योंकि यह डाइट हमारे लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है। इससे हमारा दिमाग भी बहुत तेज रहता है। साथ ही शरीर का अच्छे से विकास करती है। आज हम आपको इसकी बारे में बताएंगे कि किस तरह प्लांट बैस्ड डाइट हमें कई तरह की परेशानियों से बहुत दूर रखती है।

1. वजन कंट्रोल
यह आहार तृप्ति को बढ़ाने का काम करते है। साथ ही यह हमारी भूख को नियंत्रित भी रखते है। इसलिए जो लोग मांस खाते है, उनका वजन बहुत कम रहता है।

2. मधुमेह का खतरा कम
इन आहार को खाने से मधुमेह का खतरा बहुत कम होता है क्योंकि इन आहार में वसा और शर्करा कम होती है। फल और वेजी फूड शरीर के इंसुलिन लेवल में बहुत सुधार करते है, जिससे वजन कंट्रोल रहता है और मधुमेह का खतरा भी कम होता है।

3. रक्तचाप में सुधार
शाकाहारी आहार निम्न रक्तचाप से जुड़ा हुए है। साबुत अनाज और फलियों में मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल लेवल को बहुत ही ठीक रखते है। खाने में अधिक शाकाहारी और कम मांसाहरी लेने से उच्च रक्तचाप भी नियंत्रित रहता है।

4. हृदय रोग में सहायक
अगर आप रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट कम मात्रा में या बिल्कुल नहीं खा रहे हैं तो यह रक्त में शर्करा को बहुत ही तेजी से रोकता है, जो दिल की समस्याओं बढ़ाते है। रैड मिट खाने से दिल की प्रॉबल्म का खतरा भी कम हो जाता है।

5. कैंसर का खतरा कम
रैड मांस खाने से पेट के कैंसर का खतरा भी कम होता है। मतलब की प्रॉसिस्ट मिट, जिसे पका हुआ गोश्त कहते है को खाने से ब्रैस्ट कैंसर का खतरा भी बहुत कम होता है। इसके अलावा आप प्लांट बैस्ड डाइट लेकर अन्य कई तरह के कैंसर से भी बच सकते है।

6. उच्च विटामिन
प्लांट बैस्ड डाइट में फल, सब्जियां, नट्स, और अनाज शामिल होता है। यह खाद्य पदार्थ विटामिन ए, सी, ई , एंटीऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम और पोटैशियम से पूरी तरह भरपूर होते है, जो बीमारियों का खतरा कम करने में बहुत ही सहायक होते है।

यह भी पढ़ें:

एल्युमिनियम फॉयल में पैक खाना बनता है इन गंभीर बीमारियों का कारण!

कमर दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे