जानिए सुबह-सुबह हरी घास पर नंगे पाँव चलने के फायदे

हमें सुबह नियमित रूप से टहलने जाना चाहिए। इससे हमारी सेहत ठीक रहती है। अगर आप भी सैर पर जा रहे हैं, सुबह-सुबह हरी घास पर नंगे पांव चलने से आपकी सेहत ठीक रहेगी। नंगे पैर घास पर चलना आपकी सेहत के लिहाज से बहुत लाभदायक है।

चलिए जानते हैं उन फायदों के बारे में…

सुबह-सुबह ओस में भीगी घास पर चलने से आंखों की रोशनी रहती है। कुछ दिन नंगे पैर हरी घास पर चलने से आपका चश्मा उतर सकता है या फिर चश्मे का नंबर कम हो सकता है।

सुबह-सुबह ओस में भीगी घास पर चलना बहुत बेहतर माना जाता है जो पांवों के नीचे की कोमल कोशिकाओं से जुड़ी तंत्रिकाओं द्वारा मस्तिष्क तक राहत पहुंचाता है। घास पर कुछ देर तक बैठने, चलने से एलर्जी और छींक से भी मुक्ति पाई जा सकती है।

अगर आप हरी घास पर चलेंगे, तो स्वस्थ तथा तनाव रहित रहेंगे। घास पर नंगे पांव चलने से धीरे-धीरे मांसपेशियों का खिंचाव कम होता है तथा तनाव रहित बनाता है। साथ ही ग्रीन थैरेपी से मस्तिष्क की शक्ति भी बढ़ती है।

मधुमेह रोगियों के लिए हरी घास पर चलना और बैठना बेहद लाभकारी माना जाता है। मधुमेह रोगी हरी घास पर नियमित गहरी सांस लेते हुए टहलें तो शरीर में ऑक्सीजन की पूर्ति होने से कई समस्याओं से मुक्ति पाई जा सकती है।