पुरुषों में स्पर्म काउंट घटने के कारण, लक्षण और उपाय

आमतौर पर एक मि.ली. सीमेन में 15 मिलियन या फिर हर सैंपल में 39 मिलियन स्पर्म काउंट सामान्य माना जाता है. दूसरे शब्दों में कहें, तो एक मि.ली. सीमेन में 10 मिलियन से कम स्पर्म काउंट असामान्य माना जाता है और ऐसे पुरुषों को इंफर्टिलिटी का इलाज कराना पड़ता है. आज यह स्थिति आ गई है कि हर छह में से एक कपल इंफर्टिलिटी का शिकार हो रहा है.

साथ ही यह बहुत गंभीर बात है कि हर साल पुरुषों के स्पर्म काउंट में 2% की कमी देखी जा रही है. ऐसा ही चलता रहा, तो कुछ ही सालों में इंफर्टिलिटी एक गंभीर सामाजिक समस्या बन जाएगी.

कारण:

हमारी बदलती लाइफस्टाइल और वर्क कल्चर ने बहुत कुछ बदल दिया है. जिस तेज़ी से पुरुषों के स्पर्म काउंट में कमी आ रही है, उसके लिए बहुत हद तक ये चीज़ें ही ज़िम्मेदार हैं.

  • दिन-ब-दिन बढ़ता मोटापा
  • अनहेल्दी लाइफस्टाइल
  • फिज़िकल एक्टिविटी की कमी
  • बहुत ज़्यादा टाइट कपड़े पहनना
  • वर्कप्लेस पर बढ़ता प्रेशर
  • स्मोकिंग और अल्कोहल
  • बहुत ज़्यादा इमोशनल स्ट्रेस
  • हार्मोंस का असंतुलन
  • इनडोर व आउटडोर पोल्यूशन
  • कुछ दवाइयों के साइड इफेक्ट के कारण भी ऐसा हो सकता है.
  • पर्यावरण में बढ़ती गर्मी इसका एक और कारण है.

लक्षण:

  • इजैकुलेशन में द़िक्क़त महसूस होना.
  • बहुत कम सीमेन का निकलना.
  • इरेक्टाइल डिस्फंक्शन.
  • सेक्सुअल डिज़ायर में कमी.
  • साथ ही बार-बार सांस संबंधी समस्या होना.
  • चेहरे और शरीर पर बालों का बढ़ना.
  • इंफर्टिलिटी से जूझ रहे पुरुषों के सूंघने की शक्ति में भी कमी देखी जाती है.

उपाय:

स्पर्म काउंट बढाने के लिए आप रोजाना एक ग्लास हलके गुनगुने दोध में एक चम्मच शहद मिलाएं और सेवन करें, इससे स्पर्म काउंट बढने लगता है.

सहजन का सेवन यौन क्षमता बढ़ाने में भी मदद करता है. पुरुषों में यह शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने और वीर्य को गाढ़ा करने में मददगार होता है.

रोजाना गाजर का सेवन आपके स्पर्म में शुक्राणु की संख्या को बढाता है और शरीर की कमजोरी भी दूर करता है.

पुराने समय में स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए सौंफ का इस्तेमाल किया जाता था. खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ का सेवन आपके शरीर में स्पर्म काउंट को बढ़ा देता है.