जानिए नाखून चबाने से होने वाले ये नुकसान

अक्सर लोगों की आम आदत है नाखून चबाना, जो हर कोई करता है।यह बुरी आदत बच्चों में सबसे आम होती है, लेकिन बड़ों को भी अपने नाखून चबाते हुए अकसर देखा होगा।लेकिन खासतौर पर जब इंसान तनाव में होता है या नर्वस होता है तो यह आदत ज्यादा देखने को मिलती है।लेकिन इस क्रिया के दौरान नाखूनों में मौजूद न जाने कितना मैल आपके शरीर के अंदर प्रवेश कर जाता है। इससे नाखूनों की सामान्य वृद्धि पर तो असर पड़ता ही है, साथ ही उनकी शेप भी अनियमित हो जाती है। चलिए हम आपको बताते हैं इसके नुकसान…

उंगलियों के खराब होने की आशंका

अगर आप हर समय उंगिलयों को मुंह में डालकर नाखून चबाते रहते हैं तो इससे आपकी लार में मौजूद केमिकल उंगलियों की स्किन को खराब कर सकते हैं। लार में मौजूद केमिकल की वजह से स्किन खुरच जाती है और देखने में बहुत बुरी लगने लगती है।

नाखून चबाने की आदत बढ़ाए तनाव

एक अध्ययन के मुताबिक जो युवा वयस्क उदासी या काम के दौरान मुश्किल समस्याओं में पड़ जाते हैं, उनमें नाख़ून चबाने की आदत हो जाती है जो उनकी विशेष भावनात्मक स्थिति को दर्शाती है।जब भी कोई जिसे नाखून चबाने की आदत होती है और बह उसे रोकने की कोशिश करता है तो एक तनाव सा उत्पन्न होता है जिससे उसे तनाव महसूस होने लगता है और बह फिर से उसी कम को करने लगता है।

नाखून भी हो सकते हैं डैमेज-

उंगलियों की नाखून के नीचे एक परत होती है जिसे मैट्रिक्स कहा जाता है। हमेशा नाखून चबाते रहने से नेल मैट्रिक्स पूरी तरह डैमेज हो जाते हैं और आगे चलकर इनसे इनग्रोन नेल्स जैसी समस्याएं हो जाती हैं।

सेंसटिविटी हो जाती है

लगातार कई सालों तक नाखून चबाने से दांतों की उपरी परत ख़राब हो जाती है जो दांतों को संवेदना से बचाती है इसलिए लगातार नाखून चबाने से कई लोगों में दांत की संवेदनशीलता पैदा हो सकती है।

नाखून में इन्फेक्शन हो सकता है-

जब आप नाखून काटते समय उसका एक बड़ा हिस्सा काट लेते हैं तो इससे नाखून में मौजूद बैक्टीरिया आपके मुंह में चले जाते हैं। इससे इन्फेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। इससे पैरोनशिया (Paronychia) नामक इन्फेक्शन हो जाता है जिसमें सूजन, दर्द, रेडनेस और पस से भरे हुई गांठे पड़ जाती हैं।

दांतों के बीच गैप होना

जब नाखून चबाना कई वर्षों से जारी रहता है, तो सामने के दोनों दाँतो के बीच गैप विकसित हो जाता हैं।

जॉइंट प्रॉब्लम

कान के पास थर्मोमेंडिबुलर जॉइंट (temporomandibular joint ) मुंह को खोलने और बंद करने में मदद करता है। नाखून चबाने के कारण जॉइंट पर निरंतर दबाव पड़ता है जिससे मुँह की संयुक्त सूजन उत्पन्न हो जाती है जिससे कान का दर्द, सिरदर्द , जबड़े का सही से बंद ना हो पाना जैसे संयुक्त समस्यांए हो सकती है।

पेट खराब हो सकता है-

आप दिन भर अपने हाथो से तरह तरह की चीजें छूते हैं जिससे कई तरह के बैक्टीरिया आपके नाखूनों में जाकर चिपक जाते हैं। जब आप ऐसे बैक्टीरिया से भरे हुए नाखूनों को अपने मुंह में डालते हैं तो बहुत अधिक मात्रा में बैक्टीरिया आपके पेट में पहुंच जाते हैं और इससे पेट में इन्फेक्शन से लेकर जुकाम जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

यह भी पढ़ें-

तरबूज आपको कर सकता है बीमार, यदि आप हैं इन बीमारियों के शिकार