जानिये ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण और उपाय !

आज हम आपको एक ऐसी गंभीर बीमारी के बारे में बताने जा रहे है जो सामान्यतः महिलाओ में ज्यादा पायी जाती है। जी हां हम आपको महिलाओ के स्तन में होने वाली गांठ के बारे में बताने जा रहे है। अगर आप भी अत्यधिक लंबे समय तक स्वस्थ रहना चाहती हैं तो यहां दी गई सेहत से जुडी उन गंभीर समस्याओं पर ध्यान जरूर दें, जिन्हें थोडी सावधानी और सही उपचार से गंभीर होने से बचा जा सकता है।

ब्रेस्ट में गांठ

सामान्यतः स्त्रियां इस ओर ध्यान ही नहीं देतीं। लेकिन नहाते समय अपने स्तनों की जांच कराना बहुत जरूरी है। महीने में एक बार अपने स्तनों की जांच करनी जरूरी है। अगर किसी प्रकार की गांठ या मांस वहां महसूस करें तो डॉक्टर की सलाह अवश्य लें, क्योंकि यह गांठ ब्रेस्ट कैंसर का संकेत भी हो सकती हैं। नॉन कैं गांठें अधिक नर्म होती हैं, जिन्हें दबाने से दर्द भी नहीं होता और वे मासिक चक्र के हिसाब से घटती-बढती भी रहती हैं।

बचाव

हर गांठ कैंसर का कारण नहीं होती, इसलिए बिना देर किए डॉक्टर की सलाह और जांच अवश्य कराएं।

हर माह एक बार अपने स्तनों की जांच जरूर करें। अगर कुछ अतिरिक्त मांस या गांठ महसूस हो तो छिपाएं नहीं, तत्काल जांच कराएं।

बहुत कसी ब्रा न पहनें।