जानिए ये देसी नुस्खे जो अस्थमा से बचाव में बहुत मददगार है

अस्थमा सांस लेने से संबधित एक गंभीर बीमारी है। यह बीमारी ज्यादातर प्रदूषण के कारण बढ़ती जा रही है। अस्थमा दो प्रकार का होता है बाहरी अस्थमा और आंतरिक अस्थमा। बाहरी अस्थमा पालतू जानवरों और धूल-मिट्टी से एलर्जी के कारण होता है और आंतरिक अस्थमा होने का मुख्य कारण रसायनिक तत्वों जैसे सिगरेट का धुआं, पेंट वेपर्स आदि का सांस लेने द्वारा शरीर में चले जाना है। इसके अलावा कारखानों, वाहनों से निकलने वाले धूएं के कारण भी लोग अस्थमा के पूर्ण्तः शिकार हो रहें हैं। आज हम आपको अस्थमा से बचने के लिए घरेलू उपचार बताएंगे, जिसे उपयोग करके आप इस गंभीर समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

अस्थमा के घरेलू उपचार

अदरक में बहुत से औषधीय गुण मौजूद होते हैं जो अस्थमा की गंभीर समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। अदरक की चाय बना कर लहसुन की दो पीसी हुई कलियां मिलाएं। इस चाय सुबह और शाम रोजाना पीएं।

अस्थमा से राहत पाने के लिए लहसुन बहुत ही कारगार उपाय है। इसे इस्तेमाल करने के लिए 30 मि.ली. दूध में लहसुन की 5 कलियां डाल कर उबालें। प्रतिदिन इसका सेवन करें।

सांस लेने में तकलीफ होने पर पानी में अजवाइन मिलाकर इसे उबालें और इसकी भाप लें। इससे सांस लेने में किसी भी तरह की कोई तकलीफ नहीं होगी।

दमा होने पर लौंग का काढ़ा भी बहुत फायदेमंद है। इसे बनाने के लिए 125 मि.ली. पानी में 4-5 लौंग डाल कर 5 मिनट तक उबालें। फिर इसे छान कर 1 चम्मच शुद्ध शहद मिलाकर गर्म-गर्म पीएं। यह काढ़ा प्रतिदिन 2-3 बार पीएं।

मुठ्ठीभर सहजन के पत्तियां 180 मि.मी. पानी में 5 मिनट उबालें और फिर इसे ठंडा करके इसमें 1 चुटकी नमक, काली मिर्च और नीबू का रस मिला कर रोगी को अवश्य पिलायें।

यह भी पढ़ें-

हो जायेंगे हैरान करेले खाने के ये फायदे जानकर