जानिए टिप्स बढ़ती उम्र के बावजूद भी आप ऐसे रेह सकते स्वस्थ

50 वर्ष की उम्र होने के बाद शरीर में बहुत कुछ परिवर्तन होते है। दरअसल ऐसा हर्मोंस में परिवर्तन के कारण होता है। हर्मोंस में परिवर्तन होने के कारण कई प्रकार की परेशानी भी होने लगती है। जैसे हार्ट रेट बढऩा, चेहरे पर हीट फील होना, ब्लड प्रेशर बढऩा, एंजाइटी होना जैसी समस्याएं महिलाओं में बहुत ज्यादा मिलती है। लेकिन बढ़ती उम्र होने के बावजूद भी आप इन समस्याओं से अवश्य पीछा छुडा सकते हैं। कुछ ऐसी न्यूट्रिशन टिप्स है जिनके द्वारा आप ……

शतावरी – मीनोपोज के बाद बॉडी में कई बदलाव आते है इसे शतावरी के सेवन से कंट्रोल किया जा सकता है। शरीर में हो रहे हार्मान चेंजेस को शतावरी कंट्रोल करता है।

ओट-मील का सेवन करें ये शरीर के लिए हेल्दी है। कोशिश करें की नॉन-वेजिटेरियन फूड का सेवन कम से कम करें।

चंदन का पाउडर भी बहुत उपयोगी होता है। चंदन से बने प्रोडक्ट का सेवन करें। चंदन से बनी कई मेडिसिन मीनोपोज के लिए दी जाती हैं।

सोया – 50 की उम्र पार कर रही महिलाओं के लिए सोया के प्रोडक्ट्स बहुत ही फायदेमंद है। महिलाएं सोया पनीर, सोया मिल्क जैसी चीजों का सेवन कर सकती हैं। इससे बढ़ती उम्र में होने वाले परिवर्तन को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है।

कैल्शियम – मीनोपोज के बाद और 50 की उम्र के बाद शरीर से कैल्शियम कम होने लगता है. कैल्शियम को शरीर में बरकरार रखने के लिए कैल्शियम युक्त फूड और डॉ. की सलाह पर सप्लीमेंट्स लेने चाहिए। रागी आटे से बने प्रोडक्ट का सेवन करने से कैल्शियम की कमी हो दूर किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें-

अखरोट का हर रोज कीजिए सेवन, वजन घटाने में मददगार है