आलू से जुड़ा है यह गलत तथ्य, जानकर दंग हो जाएंगे आप

आप सभी यह जानते है की कई सब्जियां आलू के बिना अधूरी रहती होती है। आलू से एक तथ्य यह भी जुड़ा हुआ है कि इसका अधिक सेवन करने से वजन बहुत ज्यादा बढ़ता है, जो कि गलत तथ्य है। आलू में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। जो हमारे शरीर के लिए स्फूर्ति बनाने का कार्य करता है।

कई अवस्थाओं में व्यक्त्यिों को आलू का उपयोग कतई नहीं करना चाहिए। क्योंकि आलू में रासायनिक तत्व भी पाया जाता है, जिसे सोलनिन कहा जाता है, इसको अधिक खाने से कई प्रकार की बीमारियां हो जाती है।

हम आपको तीन प्रकार के कारण बतायेगें जिनसे आप जो आलू खराब हो गये हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक है। उनको आप आसानी से पहचान सकते हो।

आलू ऐसी सब्जी है, जिसे कई व्यक्ति ज्यादा मात्रा में खरीद लेते हैं और अधिक समय तक आलू का उपयोग करते हैं। अधिक आलू खाने से शरीर में कई जहरीले पदार्थ जाते हैं। ऐसे आलू में लाइन पड़ जाती है और वो छोटे होने लगते हैं। प्रकाश के मिलने से आलू में सोलनिन उत्पन्न हो जाता है। जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

अधिक वक्त तक रखने से आलू अपने आप उगने लग जाते हैं। अंकुरित आने से आलू में सोलनिन और चासोनिन का भाग बढ़ जाता हैं। जो कि ग्लाइकोलोकॉल्ड्स नामक जहर होता है। यह पाचन तंत्र के लिए बहुत नुकसानदायक होता हैं।

जिन आलू का कलर ग्रीन होने लगता हैं, जो उजाले में उगे हुए हैं और इसलिए उनका सोलनिन मात्रा भी अधिक होती है। यद्यपि ग्रीन आलू को बाहर फेंकना गलत है। आप चाहे तो इस ग्रीन भाग को काट कर उस आलू का प्रयोग सब्जि में कर सकते हैं।