भाजपा में प्रताड़ना का आरोप लगाकर कृपाल सिंह परमार ने उपाध्यक्ष पद से दिया त्यागपत्र

हिमाचल प्रदेश में आगामी वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पूर्व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को एक बड़ा झटका लगा, जब भाजपा के वरिष्ठ नेता कृपाल सिंह परमार ने प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष पद से आज इस्तीफा दे दिया। मगर इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पार्टी छोड़ने से साफ इनकार किया। ज्ञात हो कि फतेहपुर उपचुनाव की शुरुआत में कृपाल टिकट के दावेदार थे, लेकिन भाजपा ने बलदेव ठाकुर को टिकट दिया गया था। वे इस बात से नाराज चल रहे थे।

आज हिमाचल प्रदेश के प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद बात करते हुए कृपाल सिंह परमार ने प्रदेश के भाजपा नेताओं के ऊपर प्रताड़ना और उपेक्षा का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों से पार्टी में मेरी उपेक्षा की जा रही थी। और पिछले 6 महीनों से पार्टी के अंदर ही मुझे परेशान किया जा रहा है। इसलिए मैं हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला प्रभारी एवं राज्य कार्यकारिणी सदस्य के पद से इस्तीफा दे रहा हूं।

ज्ञात हो कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद कृपाल सिंह परमार ने कहा कि आत्मसम्मान को ठेस पहुंचने के बाद उन्होंने इस पद से इस्तीफा दिया है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह किसी भी सूरत में पार्टी नही छोड़ेंगे, बल्कि पार्टी में रहकर उन लोगों को बेनकाब करेंगे जो पार्टी के खिलाफ कार्य करते आए हैं।

एक इंटरव्यू में कृपाल परमार ने कहा कि पिछले 4 वर्षों से सुनियोजित ढंग से वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित करने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में सरकार और संगठन दोनों को सुबूत सहित शिकायत दी गई, लेकिन उन पर कार्रवाई करने की बजाय उन्हें ही और मजबूत कर दिया गया। उन्होंने कहा कि फतेहपुर में जो कुछ भी हुआ, वह उन्होंने एक कर्मठ कार्यकर्ता के तौर पर निभाया। सब सहने के बाद भी उन्हें जलील करने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

यह पढ़े: अक्षय कुमार की फिल्म ‘अतरंगी रे’ इस दिन होगी रिलीज आज रिलीज होगा फिल्म का ट्रेलर