Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / क्षत्रिय जनसंसद में कई मुद्दों पर हुई चर्चा, आरक्षण और SC-ST एक्ट पर राजा राजेन्द्र सिंह का बड़ा बयान

क्षत्रिय जनसंसद में कई मुद्दों पर हुई चर्चा, आरक्षण और SC-ST एक्ट पर राजा राजेन्द्र सिंह का बड़ा बयान

अखिल भारतीय राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा ने नेतृत्व में राजधानी दिल्ली के कास्टीट्यूशन क्लब के स्पीकर हाल में राष्ट्रीय क्षत्रिय जन संसद का विस्तार किया गया और 250 जन संसद के सांसदों का मनोनित किया गया। जनसंसद सदस्यों की संख्या 350 पंहुच गई है और जल्द ही 1500 सदस्यों का नियुक्ति पुरी कर ली जायेगी। देश के कोने-कोने से सभा में आई महिलाओं ने राम वंशज राजा राजेन्द्र सिंह की पुजा अर्चना की और आरती उतारी।

Loading...

इस मौके पर राजा राजेन्द्र सिंह ने कहा कि भारत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और देश के सर्वोच्च उदालत के पांचों जजो ने सत्य का फैसला किया और राज जन्म भूमि में भगवान राम को ही को मालिकाना हक दिया और चार सौ वर्षो का भारत भूमि का कलंक को अलविंदा कर दिया। हम क्षत्रिय समाज की तरफ से कोटि-कोटि नमन करते हुए धन्यवाद देते है। इसी के साथ-साथ राजा राजेन्द्र सिंह ने कहा कि भारत में राजनैतिक जन प्रतिनिधी आरक्षण को तत्काल समाप्त करे सरकार। साथ ही एससीएसटीएक्ट को भी विचार करे और मानवअधिकार के हित में काम करे। कई वक्ताओं ने सभा को संबोधित किया। देश के विभन्न 25 राज्यों से आये हुए प्रतिनिधि शामिल हुए।

इस महासभा में प्रमुखता से आये हुए जिसमें डा. शिवराम सिंह गौर, सुखदेव सिंह गोगामेणी, संतकृपालजी, शत्रुध्न सिंह चौहान, मलखान सिंह जी, महेश पाटिल, दयाशंकर सिंह,ठाकुर अनूप सिंह, ठाकुर राजेश सिंह, नरेन्द्र पाल सिंह, बी.के सिंह चौहान, उमेश कुमार सिंह, कुवंर अजय सिंह, योगिराट क्रांतिवीर सिंह, चंद्रदेव सिंह, शिवनंदन सिंह, दिनेश सिंह, जैनेद्र पवार, कृष्ण प्रताप सिंह, शक्ति सिंह चंदेल, भारत सिंह हाडा, महेन्द्र सिह, विजय सिंह, मोहित सिंह, डा. एस के सिंह, डॉ संजीव सिंह, अभय सिंह सिकरवार, विजय परमार, नर सिंह, प्रवीण सिंह, अनिरूद्ध प्रताप सिंह गहरवार, विपेश सिंह चंदेल, सर्वेद्र सिंह चौहान, राहुल सिंह, श्रीमती अंजता सिंह, श्रीमतीसुमन सिंह, सम्प्रदा सिंह, आरती चौहान, राखी परमार, श्री मती किरण सेंसर, भूमि सिंह,,भावना सिंह,अर्चना सिंह, आदि अनेकों राष्ट्रीय पदाधिकारी उपस्थित हुए।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *