लालू को मिली एक और मामले में जमानत, फिर भी अभी जेल में रहेंगे राजद अध्यक्ष

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर झारखंड उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को सुनवाई की। इस दौरान अदालत ने चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में उन्हें जमानत दे दी हैं। लेकिन इसके बाबजूद अभी भी लालू यादव को जेल में रहना पड़ेगा। दरअसल, अभी तक दुमका कोषागार मामला में कोई फैसला नहीं हुआ हैं। इस मामले में लालू प्रसाद यादव को रांची की सीबीआई अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई हैं।

लालू ने इस मामले में याचिका लगाते हुए कहा था कि उन्होंने अपनी आधी सजा काट ली है। जिसके आधार पर उन्हें जमानत दी जानी चाहिए। उन्होंने अपनी बीमारी का भी हलावा दिया था। इससे पहले 11 सितंबर को सुनवाई के दौरान सीबीआई ने जमानत का विरोध किया था। सीबीआई का कहना था कि लालू को चार मामले में सजा सुनाई गई है और सभी की सजा अलग-अलग चल रही हैं। सभी मामलों में आधी सजा काटने के बाद ही जमानत मिल सकती हैं।

राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय महासचिव भोला यादव रिम्स में इलाज करवा रहे लालू यादव से मंगलवार को मिलने पहुंचे। बताया जा रहा है कि वे लालू से सिंबल पर हस्ताक्षर लेने के लिए गए थे। इसके बाद वे बिना किसी से बात किए रिम्स से निकल गए। इसे लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

यह भी पढ़े: पिछले 24 घंटे में 70,496 नए कोरोना मामले और 964 मौत, मृत्यु दर में गिरावट
यह भी पढ़े: पाकिस्तान में बिस्किट का विज्ञापन हुआ बैन, बताया बॉलीवुड के आइटम नंबर जैसा

Loading...