Breaking News
Home / ज्योतिष / साल 2019 का अंतिम वल्याकार सूर्यग्रहण, जाने क्यों है खास
solar eclipse

साल 2019 का अंतिम वल्याकार सूर्यग्रहण, जाने क्यों है खास

आज 26 दिसंबर को साल 2019 का सबसे आखरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। इस साल का सबसे पहला सूर्य ग्रहण जनवरी 2019 में लगा था। यह साल का तीसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण है।

माना जा रहा है कि यह सूर्य ग्रहण बेहद खास है। आज सूर्य ग्रहण में सूर्य एक अनोखी आग की रिंग की तरह नजर आने वाला है। क्योंकि इसमें सूर्य के मध्य का भाग हीं सिर्फ छाया के छेत्र में आएगा बल्कि किनारे वाले  हिस्से प्रकाश से जगमगाते रहेंगे। वैज्ञानिक इसे रिंग ऑफ फायर का नाम दे रहे हैं।

Loading...

2019 का यह तीसरा सूर्य ग्रहण वाला वलयकार सूर्य ग्रहण है इस तरह के ग्रहण में सूर्य पूरी तरह से नहीं छिपता।

साल 2019 का यह अंतिम सूर्य ग्रहण भारत, सऊदी अरब, कतर, इंडोनेशिया, श्रीलंका, सुमात्रा, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, और गुआम इत्यादि में नजर आएगा। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, और अफ्रीका के अन्य हिस्सों में भी सूर्यग्रहण आंशिक रूप से देखा जा सकेगा।

अगर हम भारत की बात करे तो भारत में सूर्य ग्रहण का समय सुबह 8:00 बजे से शुरू होगा। इसकी अवधि कुल 5 घंटे 36 मिनट तक रहेगी। जबकि हिंदू धर्म और मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण का सूतक काल 25 दिसंबर को रात 8:00 बज के 17 मिनट से शुरू हो चुका है। इस सूतक की नियमावली के अनुसार इस समय कोई भी शुभ कार्य करना अच्छा नहीं माना जाता है।

अगर आप भी भारत में सूर्य ग्रहण के इस अनोखे नजारे को देखना चाहते हैं तो जान ले के आंशिक सूर्यग्रहण 8:00 बजे शुरू हो जाएगा। जबकि वलयकार सूर्य ग्रहण की अवस्था को आप 9:06 में भारत में देख सकेंगे। सूर्य ग्रहण का वलयकार अवस्था 12:29 पर समाप्त हो जाएगा। जबकि ग्रहण की आंशिक अवस्था 1:36 दोपहर तक बनी रहेगी।

भारत में अलग-अलग स्थानों पर सूर्य ग्रहण के अलग-अलग नजारे देखने को मिलेंगे। बेंगलुरु में सबसे ज्यादा सूर्य ढका हुआ दिखाई देगा। बेंगलुरु में इसका असर 89.4 प्रतिशत दिखाई देगा। जबकि चेन्नई में 84.6 प्रतिशत सूर्य ढका हुआ दिखाई देगा। वही अहमदाबाद में सूर्य करीब 66% छिपा रहेगा जबकि दिल्ली में सिर्फ 55.5% हिस्सा छिपा दिखेगा।

वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अगर देखा जाए तो सूर्य ग्रहण के समय सूर्य से कुछ हानिकारक किरणें निकलती है। इससे लोगों को इस दौरान कुछ सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। सूर्यग्रहण के नजारे को नग्न आंखों से ना देखें।

उनसे बचने के लिए और नजारों का लुफ्त उठाने के लिए सनग्लासेस पहनकर ही सूर्य ग्रहण को देखें। वैसे तो टेक्नोलॉजी कि इस दुनिया में कई वेबसाइट के जरिए आसानी से सूर्य ग्रहण को अपने स्मार्टफोन पर भी देखा जा सकता है।

श्रीलंका के लोग एस्ट्रोनॉमी चैनल Tharulowa digital पर सूर्यग्रहण का नजारा देख सकेंगे। वहीं इसके अलावा स्पेस फोकस वेबसाइट Slooh.com के जरिए भी सूर्यग्रहण को ऑनलाइन देखा जा सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *