Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / जानें, 30 साल के बाद कैसे आता है पर्सनैलिटी में बदलाव

जानें, 30 साल के बाद कैसे आता है पर्सनैलिटी में बदलाव

पुराने लोग हमें अक्सर कहते मिल जाते है जो कहते है कि बेटा समझदार बनों। समझदार वाली हिदायत आपको कई लोग भी कहते मिल जाएगे। ज्यादतर मामलों में हमारे माता-पिता हमें कहते है कि बेटा अब तू बड़ा हो गया है कोई अक्ल वाली बात करो। क्या हमारे अदंर यह बदलाव समय के साथ आता है या उम्र बढ़ने के साथ होता है? दोनों ही कारण है। ज्यादतर लोगों में यह बदलाव कम उम्र में आ जाता है, कुछ लोगों में यह बदलाव समय और उम्र के साथ पनपता है।

कुछ अध्ययन में यह पाया गया है कि जब आप व्यस्क होते है तो आपकी पर्सनैलिटी में बहुत कम बदलाव आता है। आपकी पर्सनैलिटी एक हद तक समान ही रहती है   लेकिन कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि आपका चरित्र उम्र के मध्य या फिर उम्र बढ़ने पर भी बदलता रहता है।

Loading...

माना ये भी जाता है कि महिलाओं में 30 की उम्र में ज्यादा बदलाव देखने को मिलता है। महिलाएं  में 30-60 की उम्र में ज्यादा आत्म-विश्वास बढ़ता जाता है। जबकि पुरुषों में ऐसा बहुत धीमे-धीमे होता है। वहीं दूसरी तरफ पुरुष इस उम्र में थोड़े अधिक दोस्ताना और सामाजिक होने लगते हैं जबकि महिलाओं में ऐसा कम होता है।

50 फीसद आपके जीन का योगदान होता है आपकी  पर्सनैलिटी में, ये भी इस बात पर निर्भर करता है कि आपका विकास कैसे हुआ है। जीन और विकास दोनों ही आपकी पर्सनैलिटी को प्रभावित करते है।एक अध्ययन में पाया गया कि आपकी पर्सनैलिटी का आधा हिस्सा वंशागत होता है।

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *