Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / जानें गले से जुड़े कैंसर के लक्षण और बचाव

जानें गले से जुड़े कैंसर के लक्षण और बचाव

कैंसर एक भयानक बीमारी है। भारत जैसे देश में आज कैंसर एक कौड बन चुका है। हजारों की संख्या में कैंसर से परेशान लोगो की जान हर साल चली जाती है। इस बीमारी के लिए ईलाज का खर्चा भी इतना ज्यादा है जिसे आम नागरिक नही झेल पाता। भारत में ज्यादतर लोग तम्बांकू का सेवन करते है। तंम्बाकू के सेवन के कारण कई लोगों को गले का कैंसर हो जाता है। जिससें समय पर ईलाज न मिलने पर आदमी की मृत्यू हो जाती है।

एक सर्व के अनुसार पाया गया है कि जो लोग लगातार तंम्बाकू का सेवन करते है। उनमें यह बीमारी पाई जाती है। लेकिन जो नही करते उनको भी यह बीमारी आस-पास के वातावरण के कारण अपने जाल में फंसा लेती है। जिसके कारण आम लोग भी इसकी चपेट में आ जाते है।गले का कैंसर किसी एक निर्धारित उम्र में नहीं होता है। 20 से 25 उम्र के युवा भी इस बीमारी की चपेट में आकर उम्र से पहले ही अपनी जान गवां रहे हैं। हालांकि 40 से 50 की आयु वाले लोग इस बीमारी की सर्वाधिक मार झेल रहे हैं।

Loading...

गले का कैंसर के जब हमारे शरीर में पनपता है तो हमारी कोशिकाओं की असमान्य वृद्धि होने लगती है। जो ट्यूमर का गले में उत्पादन करती है। डॉक्टरों का कहना है कि गले का कैंसर फ्लैट कोशिकाओं में ज्यादा पाया जाता है।

लक्षण

  1. खाना खाने में तकलीफ
  2. सांस लेने में दिक्कत
  3. लगातार बोलने और आवाज में भारीपन होने लगे तो यह भी कैंसर का लक्षण हो सकते है।
  4. अगर लगातार आपका वजन कम हो रहा है। तो तुरंत आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए
  5. गले में अगर आपको कोई गांठ दिखने  लगे तो उसे नज़रअदांज न करे। तुरंत ड़ॉक्टर के पास जाए।

बचाव

  1. अगर आपको लगता है कि आपका शरीर या गले में किसी तरह की समस्या आई हुई है। उसे इग्नोर करने की बजाय ड़ॉक्टर के पास जाकर सलाह लें।
  2. अगर आप तंम्बाकू का सेवन करते है। तो उसे तुरंत छोड़ दे।
  3. रोजाना सुबह उठकर 3-4 किलोमीटर पैदल चलें
  4. अच्छे भोजन का सेवन करें।
  5. किसी भी भीड़ वाली जगह पर जानें से पहले मुंह को अच्छी तरीके से ढक लें।
  6. समय-समय पर डॉक्टर के पास जाकर अपने शरीर का चैकअप जरुर करवाएं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *