पलके कम झपकाना आंखों के लिए होता है हानिकारक, जानिए कैसे

आज के समय में अधिकतर लोग अपनी आंखों को स्क्रीन के सामने गड़ाकर घंटों यूं ही बैठे रहते हैं। आपको भले ही ऐसा करने में कोई खराबी नजर न आती हो लेकिन पलकें कम झपकाने से आपकी आंखों को काफी नुकसान झेलना पड़ता है। यहां तक कि इसके कारण आपको आंखों के कई रोग भी हो सकते हैं। ड्राई आई सिंड्रोम आंखों की ऐसी ही बीमारी हैए जो पलकें कम झपकाने के कारण लोगों को हो जाती है। आइए जानते हैं कि क्यों जरूरी है पलकें झपकाना-

आंखों के बेहतर तरीके से काम करने के लिए आंखों की पुतलियों पर एक खास तरह का लिक्विड होता हैए जो ल्युब्रिकेंट की तरह काम करता है। यह कारण है कि स्वस्थ आंखों की पुतलियां हमेशा गीली नजर आती हैं और जब आप पलकें झपकाते हैं तो ये ल्युब्रिकेंट पुतलियों में अच्छी तरह फैलता रहता है, जिसके कारण आंखों की पुतलियों पर नमी बरकरार रहती है और आंखों का कई तरह की समस्याओं से बचाव होता है।

वहीं जो लोग पलकें कम झपकाते हैं, उनकी आंखों में ल्युब्रिकेंट सही तरीके से फैलता नहीं है। इसी कारण से आंखों में सूखापन आ जाता है और इसी समस्या को ड्राई आई सिंड्रोम कहा जाता है।

सुंदरता ही नहीं, सेहत को भी फिट रखती है बिन्दी