आइये जानते हैं खिचड़ी खाने से किस प्रकार के लाभ मिलते हैं

हमनें अक्सर देखा हैं की जब भी हम बीमार होते हैं तब घर में नानी मम्मी हमें झट से दाल चावल की खिचड़ी पक्का कर दे देती हैं. दाल चावल की खिचड़ी खाने में बहुत हलकी होती हैं और इससे पाचन क्रिया भी सही रहती हैं. आईये जानते हैं इसकी खिचड़ी खाने से ओर किस प्रकार के लाभ होते हैं. बता रहे है।

*जिनकों भी कब्ज की समस्या होती हैं तो उनको दही के साथ खिचड़ी खानी चाहिये। यह छोटे बच्‍चों और बूढे़ लोगों के लिये बेहद ही पौष्‍टिक खाना है।

*जब पित्त बढ़ जाता है तो खिचड़ी को दही के साथ खाना चाहिये। अगर पाचन तंत्र कमजोर है तो खिचड़ी में थोड़ा नींबू निचोड़ कर खाना चाहिए।

*खिचड़ी में भुना जीरा डालकर खाने से डायजेशन दुरुस्त रहता है।

*खिचड़ी में मिले हुए चावल, दाल और घी शरीर को कार्बोहाईड्रेट, फाइबर, प्रोटीन और विटामिन सी जैसे कई पोषक तत्व देते हैं।

*खिचड़ी में काले नमक का प्रयोग करने से फायदा होता है।

*खिचड़ी में घी डालकर खाने से शरीर में वात का स्त‍र कम रहता है।

*नई मां के पेट में अक्सर खराबी हो जाती है। ऐसे में सबसे उत्तम उपाय खिचड़ी है।

यह भी पढ़ें-

चक्कर आना कमजोरी का लक्षण है