आइये जानते है हम की गर्भवस्था में फोलिक क्यों जरुरी है

ये तो आप सभी जानते है कि गर्भवस्था में खान पान का विशेष ध्यान रखना जरुरी होता है और इसके लिए हमे सावधानी रखनी पड़ती है| अगर हम ऐसा नहीं करेंगे तो गर्भावस्था में परेशानी आ सकती है| प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ में काफी हार्मोनल बदलाव आते हैं| ऐसे में गर्भवती महिला को विटामिन, कैल्सियम, आयरन और अधिक कैलोरीज की आवश्यकता होती है| प्रेगनेंसी अवस्था में फोलिक एसिड का सेवन सबसे जरुरी है| फोलिक एसिड की कमी गर्भवती महिला और उसमे होने वाले बच्चे दोनों को नुकसान पंहुचा सकती है| आइये जानते है हम की गर्भवस्था में फोलिक क्यों जरुरी है –

गर्भवती महिला को अपने आहार में विटामिन, मिनरल, कैल्सियम, प्रोटीन ये सभी तत्व लेने चाहिए लेकिन फोलिक एसिड का सेवन नियमित रूप से बेहद जरुरी है| गर्भावस्था के दौरान फोलिक एसिड व आयरन की जरुरत सामान्य से 50 प्रतिशत ज्यादा बढ़ जाती है|

प्रेगनेंसी में यदि फोलिक एसिड का प्रयोग न किया जाए तो गर्भवती महिला को खून की कमी हो सकती है| ये बीमारी मां के साथ बच्चे में भी पनप सकती है|

गर्भावस्था में शुरूआती महीनो में फोलिक एसिड, आयरन का सेवन शुरू कर देना चाहिए| फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में लेनी चाहिए| फोलिक एसिड का सेवन गर्भधारण करने से 2 -3 महीने पहले से ही शुरू कर देना चाहिए|

फोलिक एसिड की कमी के लिए महिलाओं को हरी पत्तेदार सब्जियां, बीन्स, संतरे, मौसमी व खूब सारा सलाद खाना चाहिए| वैसे फोलिक एसिड की टेबलेट्स भी मार्किट में उपलब्ध है लेकिन उससे कब्ज आदि होने का डर रहता है|

बच्चे के मस्तिष्क के विकास और रीढ़ की हड्डी में विकार होने से बचने के लिए गर्भवती महिलाओ को फोलिक एसिड अवश्य लेना चाहिए जिससे बच्चे में कोई विकार न हो |

शुरुआती दिनों में चाहे फोलिक एसिड कम लें लेकिन समय के साथ इसकी मात्रा बढ़ा देनी चाहिए जिससे बच्चे में कोई विकार न हो|

प्रेगनेंसी में फोलिक एसिड व अन्य तत्वों की कमी से न सिर्फ गर्भवती महिला को बल्कि उसमे होने वाले शिशु को भी स्वास्थ्य समस्या हो सकती है| अतः फोलिक एसिड का सेवन भरपूर मात्रा में करें|

यह भी पढ़ें:-

आइए जाने मशरूम खाने के फायदे