आइए जानते हैं कुछ ऐसे प्राणायाम के बारे में जो दिलाएँगे अनिद्रा माइग्रेन और डिप्रेशन से निजात

अनुलोम-विलोम आसन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसे करने से फेफड़ों की ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता बढ़ती है, जिससे शरीर की कोशिकाओं और दिमाग को ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है। जिससे आप डिप्रैशन, माइग्रेन, सांस संबंधी बिमारियों से छुटकारा पा सकते हैं।

हर रोज सुबह भ्रामरी प्राणायाम करने से मानसिक दवाब, एंजायटी और डिप्रैशन जैसी बिमारी से भी छुटकारा पा सकते हैं।

मेडिटेशन यानी कि ध्यान लगाना। कामकाज के कारण आजकल काफी लोग डिप्रैशन की बीमारी का शिकार हो रहे है। इस बिमारी से छुटकारा पाने के लिए मेडिटेशन बहुत लाभदायक है। इससे आत्मिक शांति मिलती हैं और मन की एकाग्रता के साथ कार्य शक्ति भी बढ़ती है।

आजकल काफी लोगो को अनिद्रा की समस्या है लेकिन क्या आप जानते हैं कि अनिद्रा माइग्रेन या डिप्रैशन का कारण बन सकती है। शवासन आपको अनिंद्रा की प्रॉब्लम से छुटकारा दिलाने में काफी सहायक है। यह क्रिया कुछ वक्त तक निरंतर दोहराएं। इससे फेंफड़ों और श्वसन क्रिया पर भी सकारात्मक असर दिखता है।