आइए जानते हैं, रक्तदान करने के ये चमत्कारी फायदे !

हमारे समाज में रक्तदान को महादान कहा जाता है| आप ने बहुत से लोगों को रक्तदान करते हुए अवश्य देखा होगा और पने भी कभी ना कभी तो रक्तदान किया ही होगा। कई लोग समय-समय पर रक्तदान करते रहते हैं लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो इसकी इच्छा होते हुए भी रक्तदान कतई नहीं कर पाते। कुछ लोगो के मन में कहीं तरह की गलतफेमियां आ जाती हैं कि रक्तदान करने से शरीर में कमजोरी आती है। पर ऐसा कुछ नहीं है।

रक्तदान को लेकर लोगों के मन में जो सबसे बड़ा भ्रम है वो ये है कि उनके शरीर में खून की कमी हो जाएगी। लेकिन आपको बता दें कि खून देने के 48 घंटे बाद ही आपके रक्त की क्षतिपूर्ति हो जाती है। अगर आप हट्टे-कट्टे हैं तो तीन महीने में एक बार आप आराम से रक्तदान कर सकते हैं और रक्तदान करने से किसी भी तरह की कोई कमजोरी नहीं आती हैं और न ही कोई साईड इफेक्ट होता है।

अगर किसी व्यक्ति को एड्स हैं तो उस व्यक्ति को भूलकर भी कभी रक्तदान नहीं करना चाहिए।

रक्तदान करने दिल की बीमारियों की संभावना को बहुत कम करता हैं और साथ ही शरीर में फालतू आयरन जमने से भी रोकता है।

जिस व्यक्ति को कैंसर हैं उसे भूलकर भी कभी रक्तदान नहीं करना चाहिए।

कुछ लोग इस वजह से रक्तदान नहीं कर पाते क्योंकि वह सोचते हैं कि ऐसा करने से दर्द होगा। लेकिन इसमें बस सुई चुभने का एहसास होता है, इससे ज्यादा कुछ भी नहीं।

अगर आपने टैटू या कोई कॉस्मेटिक सर्जरी करवाई हैं तो रक्तदान करने के लिए कम से कम चार महीने तक का आपको इंतजार करना होगा।

कई लोग ये सोचते हैं कि रक्तदान करने के बाद आराम करना बहुत आवश्यक हैं परंतु ऐसा बिल्कुल नहीं हैं लेकिन बता दें कि रक्तदान करने के बाद आप सामान्य रूप से अपना जीवन व्यतीत कर सकते हैं लेकिन आपको दिन में खूब पानी पीना होगा और शराब तथा धूम्रपान से दूर रहना होगा।

 

यह भी पढ़ें-

फिट रहने के लिए जिम जाने की कोई जरूरत नहीं, घर पर ही करें ये एक्सरसाइज