सोलापुर के लक्ष्मी सहकारी बैंक का लाइसेंस हुआ रद्द , जमाकर्ताओं को मिलेंगे पांच लाख रुपये

भारतीय रिजर्व बैंक ने महाराष्ट्र के सोलापुर स्थित द लक्ष्मी सहकारी बैंक लिमिटेड के लाइसेंस को रद्द कर दिया है जिसके कारण जमाकर्ताओं को पांच पांच लाख रुपये मिलेंगे।

रिजर्व बैंक ने आज जारी एक बयान में यह जानकारी देते हुये कहा कि गत 14 सितंबर को ही इस बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया गया था और बैंक के परिचालन पर आज से रोक लगा दी गयी है। महाराष्ट्र के सहकारी समितियों के पंजीयक से बैंक को बंद करने के आदेश जारी करने और इसके निपटान की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा गया है।

बैंक के पास पर्याप्त पूंजी नहीं है और उसके पास आय अर्जित करने का कोई खाका भी नहीं है। ऐसी स्थिति में बैंक बैंकिंग नियमन कानून 1949 की धारा 56 के प्रावधानों को पूरा नहीं कर पा रहा है। इसके मद्देनजर लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। इस तरह के बैंक का परिचालन जमाकर्ताओं के हित में नहीं होता है। वर्तमान वित्तीय स्थिति बैंक जमाकर्ताओं को पूरी राशि चुकाने की स्थिति में नहीं है।

निपटान प्रक्रिया की स्थिति में प्रत्यके जमाकर्ता को जमा बीमा एवं क्रेडिट गांरटी कार्पोरेशन से जमा बीमा दावा के तहत अधिकतम पांच लाख रुपये का भुगतान किया जायेगा। बैंक द्वारा दिये गये आंकड़ों के अनुसार 99 प्रतिशत जमाकर्ताओं को पूरी जमा राशि मिल जायेगी। गत 13 सितंबर तक कार्पोरेशन 193.68 करोड़ रुपये के दावों का भुगतान कर चुका था।

यह भी पढ़ें:-हीरो ने बढ़ायी वाहनों की कीमत