आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक के बाद लखनऊ, अहमदाबाद फ्रेंचाइजी को मिलेगा मंजूरी पत्र

आईपीएल की दो नई टीमों लखनऊ और अहमदाबाद के मालिकों क्रमश: संजीव गोयनका के आरपीएसजी ग्रुप और सीवीसी कैपिटल को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से वर्चुअल मंजूरी मिल गई है। दोनों टीमों को औपचारिक मंजूरी मंगलवार को आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक के बाद दे दी जाएगी।

आईपीएल के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने सोमवार को क्रिकबज से कहा, “ दोनों टीमों को मंजूरी दे दी गई है और हम कल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक के बाद मंजूरी पत्र (एलओआई) जारी करेंगे। टीमें सभी व्यावहारिक उद्देश्यों से काम कर रही हैं।”

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में एक सट्टेबाजी फर्म के साथ जुड़ाव के लिए सीवीसी का मामला काफी समय से जांच के दायरे में है, हालांकि इस मुद्दे को काफी समय से सैद्धांतिक रूप से सुलझा लिया गया है, लेकिन पार्टियों ने कुछ बिंदुओं पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। इसके लिए विशेष रूप से मंगलवार की गवर्निंग काउंसिल की बैठक बुलाई गई है।

क्रिकबज के मुताबिक हालांकि इसके विपरीत रिपोर्टें भी आई हैं, जिसमें कहा गया है कि दोनों फ्रेंचाइजियों को नीलामी से बाहर खिलाड़ियों को साइन करने के लिए बीसीसीआई से औपचारिक मंजूरी नहीं मिली है। दोनों टीमों को खिलाड़ियों को साइन करने के लिए कम से कम दो हफ्ते का समय दिए जाने की उम्मीद है। आईपीएल अध्यक्ष ने इस बारे में कहा है कि आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में भी इस मामले को उठाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हम बैठक में टीमों को दिए जाने वाले समय पर फैसला करेंगे। समझा जाता है कि बीसीसीआई 12 और 13 फरवरी को मेगा नीलामी को लेकर पूरा भरोसा है, लेकिन उसने सीवीसी मुद्दे के समाधान तक इसे एक हफ्ते के लिए टालने का विकल्प रखा है। गवर्निंग काउंसिल की बैठक के बाद तारीखों को औपचारिक रूप से सार्वजनिक किए जाने की उम्मीद है।

यह भी पढ़े: विश्व चैम्पियन लोह इंडिया ओपन में जीत के साथ नए साल के जोरदार आगाज को आतुर