अपने बालों को ऐसे बनाएँ मजबूत

हम सभी लोग सुंदर और लंबे बाल की चाहत रखते है। लेकिन बदलती ज़िन्दगी और खानपान की गलत आदतों के कारण हर कोई सफेद बाल, दोमुंहे बाल, झड़ते बालों से बुरी तरह परेशान है। इसके लिए लोग तरह-तरह के हेयर प्रॉड्क्ट का उपयोग करते है। लेकिन इनमें कई तरह के कैमिक्लस भी होते है, जो कई बार अत्यधिक हानिकारक होते है।

आज हम आपको कुछ ऐसे संकेतो के बारे में बताने जा रहे है, जिससे आप बीमारी का अंदाजा बहुत ही जल्द लगा सकते है और तत्काल डॉक्टर से सम्पर्क भी कर सकते है।

बीच बाले बालों का टूटना

शरीर में आवश्यकता से अधिक टेस्टोस्टेरोन की मात्रा के कारण सिर के बीच वाले हिस्से के बाल अत्यधिक तेजी से झड़ने लगते है। इससे बालों की जड़े खराब हो जाती है, जिस वजह से दोबारा से बाल भी नहीं उगते।

सफेद बाल

मेलेनिन नामक हॉर्मोन के कारण हमारे बाल, स्किन और आंखों का रंग तय होता है। इस हॉर्मोन की कमी के कारण भी बाल सफेद होने लगते है।

डैड्रर्फ

यह सेबोरेहिक डर्मेटाइटिस नामक बीमारी का बहुत ही गंभीर संकेत हो सकता है। इस बीमारी के कारण बालों में डैड्रर्फ और ड्राईनेस होते है तथा बाल अत्यधिक तेजी से झड़ने लगते है।

बालों का पतला होना

शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण बाल बहुत ही पतले होने लगते है और अत्यधिक तेजी से झड़ने शुरू हो जाते है।