मालिश बढ़ता है मेटाबॉलिज्म

मालिश के जरिए शरीर के अंगों को होने वाले फायदें –

याद्दाश्त : नाक और होंठ के बीच मसाज करने से याद्दाश्त तेज होती है। अगर आपको चक्कर आते हैं तो नाक और अपर लिप्स के बीच वाली जगह पर हल्की मसाज कीजिए।

सिरदर्द : जहां हम कान में छेद करवाते हैं उस जगह मसाज से सिरदर्द की समस्या ठीक होती हैं और मैटाबॉल्जिम तेज होता है।

गर्दन दर्द : अंगूठे तथा इंडैक्स फिंगर के बीच वाले हिस्से की मसाज करने से कान, पीठ, गर्दन का दर्द में आराम मिलता है।

प्वाइंट : पैर की पहले (अंगूठा) और दूसरी उंगली के बीच मसाज करने से याद्दाश्त तेज होती है।

वजन : घूटनों के नीचे मसाज करने से पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। साथ ही यह वजन बढऩे से रोकता है।

पीठ दर्द : कंधों की मसाज करने से मांसपेशियों की अकडऩ दूर होती है और पीठ का दर्द भी ठीक होता है।

थकान : गर्दन की मसाज करने से नींद अच्छी आती है और थकान दूर होती है।