Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / Congress की सीएए मीटिंग में क्यों नहीं जा रहीं हैं मायावती और ममता बनर्जी?

Congress की सीएए मीटिंग में क्यों नहीं जा रहीं हैं मायावती और ममता बनर्जी?

जेएनयू में छात्रों का विरोध और सीएए को लेकर कांग्रेस ने सोमवार दोपहर को एक मीटिंग रखी है। कहा जा रहा है कि यह मीटिंग कांग्रेस ने अपनी विपक्षी एकता को दिखाने के लिए रखी है। केन्द्र सरकार ने सीएए को 10 जनवरी से प्रभावी कर दिया है औऱ कहा गया है कि जो भी  घार्मिक प्रताड़ना के चलते  31 दिसंबर 2014 से पहले अफगानिस्तान, बाग्लांदेश और पाकिस्तान से आकर भारत में रह रहे है, वो अपनी भारत की नागरिकता के लिए अप्लाई कर सकते है।

विपक्षी दल कांग्रेस और अन्य राजनितिक दल  इस बिल का विरोध कर रहे है। उन्होंने इस बिल के प्रभावी होने पर सरकार को घेरने मेें लगे हुए है। हाल में सोनिया गांधी ने इसके विरोध में सोमवार को एक मीटिंग रखी है। कहा जा रहा कि इस मीटिंग में मायावती और पश्चिम बगांल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी आएगी। लेेकिन अब कहा जा रहा है कि ममता बनर्जी इस बैठक में नही शामिल होगी। दूसरी तरफ बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी ट्विट करके कहा है कि वह इस बैठक का हिस्सा नही होगी। मायावती ने अपने ट्विट के माध्यम से कांग्रेस पर विश्वासघात का आरोप लगाया है। और कहा है कि बहुजन समाज पार्टी इस बिल के विरोध में है। मायवती ने केन्द्र सरकार से अपील की है कि केन्द्र सरकार इस विभाजनकारी और  असवैंधानिक बिल को वापस ले। साथ ही उन्होनें जेएनयू में छात्रों पर हुए हमले की निंदा की है। दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने भी इस बैठक में शामिल होने के लिए मना कर दिया है।

Loading...

सरकार ने सीएए को विरोध के चलते देश में लागू कर दिया है और कहा है कि यह बिल किसी भी भारतीय की नागरिकता नही छिनेगां। यह उन लोगों के लिए है जो पाकिस्तान, बाग्लांदेश और अफगानिस्तान में घार्मिक प्रताड़ना के  शिकार है। उन्हें यह बिल नागरिकता देगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *