मानसिक दिव्यांग युवती से दुष्कर्म, बच्चे के जन्म पर हुआ खुलासा

हरियाणा में सोनीपत के कुंडली थाना क्षेत्र में एक मानसिक दिव्यांग युवती से अज्ञात व्यक्ति द्वारा दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। उसके परिजनों को इसकी जानकारी नहीं मिल सकी। पेट में दर्द होने पर उसको अस्पताल ले जाया गया तो उसके सात महीने की गर्भवती होने का पता लगा। अस्पताल में उसने प्री-मैच्योर बच्चे को जन्म दिया, जिसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। पुलिस ने युवती की मां की शिकायत पर शुक्रवार को दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

अस्पताल से छुट्टी होने के बाद विशेषज्ञों की मदद से युवती से आरोपी के बारे में पता लगाने का प्रयास किया जाएगा। कुंडली थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी 20 साल की मानसिक दिव्यांग बेटी है। वह कई बार घूमने के लिए घर से बाहर निकल जाती है। परिजनों ने बताया कि कुछ दिनों से उसके व्यवहार में बदलाव आ गया। वह दो दिन से बेहद परेशान थी। उसे अचानक पेट दर्द होने लगा। जिस पर उसे लेकर अस्पताल में पहुंचे तो चिकित्सक ने जांच के बताया कि वह 7 महीने की गर्भवती है। उसके साथ किसी ने दुष्कर्म कर दिया था, जिससे वह गर्भवती हो गई।

मानसिक रूप से अविकसित होने की वजह से वह परिवार के लोगों को इसकी जानकारी नहीं दे सकी। हालत बिगडऩे पर चिकित्सकों को उसकी प्री-मैच्योर डिलीवरी करनी पड़ी। उसने एक बच्चे को जन्म दिया जिसने जन्म के कुछ देर बाद दम तोड़ दिया। इसके बाद कुंडली थाना पुलिस को इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने पीडि़ता की मां के बयान पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कुंडली थाना पुलिस नवजात बच्चे का डीएनए सैंपल सुरक्षित कर लिया है। इसको जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। आरोपी के पकड़े जाने पर उसके डीएनए से इसका मिलान किया जाएगा। डीएनए सैंपल आरोपी को सजा दिलाने का सबसे पुख्ता सबूत बनेगा। वहीं पुलिस ने मानसिक दिव्यांग युवती से संवाद करने के लिए विशेषज्ञों को भी बुलाने का निर्णय लिया है। उससे काउंसलिंग कराने के बाद युवती से घटना के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।

कुंडली के थाना प्रभारी रवि कुमार ने कहा कि मानसिक दिव्यांग युवती को पेट दर्द के चलते परिजन अस्पताल लेकर गए तो दुष्कर्म की पुष्टि हुई। परिजनों से पता लगाया जा रहा है कि युवती किसके घर पर जाती थी। उसके आधार पर जांच की जाएगी। पुलिस आरोपी का पता लगाने का हरसंभव प्रयास करेगी।

यह भी पढ़े: श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग एकतरफा यातायात के लिए खोला गया