यूपी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा को कहा टाटा, सपा में शामिल होने की संभावना

भारतीय चुनाव आयोग द्वारा देश के सबसे ज्यादा विधानसभा क्षेत्रों वाले राज्य उत्तर के लिए आगामी विधानसभा चुनावों के लिए तिथियों की घोषणा के साथ उठापटक का दौर प्रारम्भ हो गया है। कल कांग्रेस के यूपी प्रभारी इमरान मसूद ने अखिलेश के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी को जॉइन करने ला ऐलान किया था। वहीं, आज यूपी सरकार में श्रम, रोजगार और समन्वय मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंत्री पद और भाजपा पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

हालांकि स्वामी प्रसाद मौर्य ने यह घोषणा नहीं की कि वह कौन सी पार्टी जॉइन करेंगे, मगर संभावना जताई जा रही है कि वह समाजवादी पार्टी को जॉइन करेंगे। इसके पीछे अखिलेश का एक ट्वीट है, जिसमें उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता श्री स्वामी प्रसाद मौर्या जी एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन।

ज्ञात हो कि इससे पहले आज दोपहर उत्तर प्रदेश के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। मौर्य ने आज उत्तर प्रदेश कैबिनेट से इस्तीफा देते हुए कहा कि मैंने दलितों, पिछड़े वर्गों, किसानों, युवाओं और व्यापारियों के खिलाफ सरकार के रवैये को ध्यान में रखते हुए योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दिया है। मैं अपने समर्थकों से सलाह लूंगा और दूसरी पार्टी में शामिल होने का फैसला करूंगा। अंत में उन्होंने अपने बयान में यह जोड़ कर यूपी सरकार में और खलबली मचा दी कि आने वाले दिनों में यूपी सरकार के दर्जनों विधायक इस्तीफा देंगे।

मौर्य के इस्तीफे के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य के एक समर्थक और बीजेपी विधायक रोशन लाल वर्मा से जब यह पूछा गया कि क्या मौर्य के बाद क्या वह भी इस्तीफा देंगे, तो उन्होंने कहा कि मेरे पास स्वामी प्रसाद मौर्य इस्तीफे की हार्ड कॉपी है। जमा होने के बाद हम इस पर विचार करेंगे। इसके बाद लिए जाने वाले फैसले के बारे में 14 जनवरी के बाद पता चल जाएगा।

यह पढ़े:एप्पल(apple) बंद करने जा रहा है अपना 7 साल पुराना यह डिवाइस, आप भी जाने