पुदीना बदहजमी संबंधी गंभीर समस्या में है बहुत फायदेमंद

पुदीना का उपयोग न सिर्फ औषधि के रूप में किया जाता है बल्कि खाने में फ्लेवर लाने के लिए भी इसका बखूबी उपयोग किया जाता है। प्राचीन काल से पुदीना बदहजमी संबंधी किसी भी गंभीर समस्या के उपचार के रूप में प्रयोग किया जाता रहा है।

अब आप सोच रहे होंगे कि पुदीने में ऐसा क्या है जो हाजमा को बेहतर बनाने में इतना अधिक मदद करता है। पुदिना में फाइटोन्यूट्रिएन्ट्स और एन्टीऑक्सिडेंट मौजूद होता है जो खाना को डाइजेस्ट करने में सहायता करता है। इस हर्ब में मेन्थॉल रहता है जो डाइजेस्टिव ट्रैक्ट में बाइल सॉल्ट और एसिड के निष्कासन को सक्रीय भी करता है।

बदहजमी के कारण पेट में जो गैस बनने लगता है उसको ये पेट के मांसपेशियों को शांत करके निकालने में पूर्ण्तः सहायता करता है। मेन्थॉल के कारण जो मांसपेशियों का संचालन अच्छी तरह से होने के कारण बदहजमी के लक्षणों के दूर करके बैचनी में अत्यधिक चैन भी दिलाता है।