Breaking News
Home / टेक्नोलॉजी / Technology: मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपिंग में बढ़ते कदम

Technology: मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपिंग में बढ़ते कदम

भारत सहित पूरी दुनिया में सूचना प्रौधोगिक और तकनीक ने तेजी से पसारे हैं। लेकिन, अगर तकनीक यानि टैक्नॉलोजी की बात करें तो इसके उपयोग में हम भारतीय बहुत आगे निकल आए हैं। खासकर स्मार्टफोन के इस्तेमााल के मामले में भारत दुनिया में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन (एंड्रोयड)इस्तेमाल करने वाले देशों में से एक है। लेकिन यह बात आप भली भांति जानते हैं कि यह स्मार्टफोन यानि एंड्रोयड एप्लीकेशन के बूते चलते हैं यानि एप्लीकेशन के बिना यह स्मार्टफोन पूरी तरह बेकार हैं। लेकिन, एंड्रोयड फोन के लिए एप्लीकेशन डेवलप करने का काम करने वाली हमारे देश में एक से बढक़र एक कंपनी हैं।

Loading...

लेकिन, अगर राजस्थान की राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां भी एक से बढक़र मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपर कंपनियां हैं जो इस क्षेत्र में काफी नाम कमा रही हैं। ऐसा ही एक नाम है Rayz इंफोटेक का, यह कंपनी मोबाइल फोन के लिए एप्लीकेशन का काम बखूबी कर रही हैं।

इसके अलावा Rayz इंफोटेक वेबसाइट डेवलपिंग और आईटी बिजनेस से जुड़ी हर सर्विस मुहैया करवा रही है। Navyug Sandesh की टीम ने आईटी से जुड़ी सर्विस और इस क्षेत्र की बिजनेस संबंधित जानकारियां और समस्याएं जानने के लिए Rayz इंफोटेक के संचालक चंद्र प्रकाश जाांगिड़ से बातचीत की। वर्ष 2013 में चंद्र प्रकाश जांगिड़ द्वारा आईटी एंड बिजनेस ऑटोमेशन सर्विसेज देने के लिए Rayz इंफोटेक की शुरुआत की गई थी।

बातचीत करते हुए चंद्र प्रकाश ने बताया कि Rayz इंफोटेक द्वारा आईटी और बिजनेस ऑटोमेशन की सर्विस मुहैया करवाई जा रही है, कंपनी विशेषतौर पर मोबाइल एप्लीकेशन की सर्विस दे रही है। कंपनी दुनिया के स्विटजरलैंड, इजरायल, यूनाईटेड किंगडम, यूनाईटेड स्टेट ऑफ अमेरिका और जर्मनी जैसे देशों में कंपनी मोबाइल एप्लीकेशन सर्विस मुहैया करवा रही है।

इस क्षेत्र में करियर बनाने के शुरुआती दौर में युवाओं को आने वाली समस्याओं पर बात करते हुए चंद्र प्रकाश कहते हैं कि दक्ष युवाओं की कमी और अनुभवहीनता और बिना कुछ सीखे काम में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। चंद्रप्रकाश आगे कहते हैं कि ऐसे युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिए सरकार को कार्यक्रम चलाने चाहिए आँर संसाधन मुहैया करवाने चाहिए, ताकि युवाओं में अनुभवहीनता में कमी लाकर उनका आत्मविश्वास बढ़ाया जाए।

चंद्रप्रकाश जांगिड़ रोबर्ट टी, क्योस्की को अपना आदर्श मानते हैं ओर वह देश में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देकर सामाजिक सरोकार की जिम्मेदारी निभाना चाहते हैं। राजस्थान गुर्जर आरक्षण: इसलिए अटक जाता है बिल, जानिए

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *