17 नवंबर को ब्रिक्स की वर्चुअल बैठक में मोदी और जिनपिंग होंगे आमने-सामने

भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर लंबे समय से तनाव चल रहा है। इसी बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात होने वाली हैं। दरअसल, दोनों वैश्विक नेता 17 नवंबर को होने जा रहे 12वें वर्चुअल ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इससे पहले ब्रिक्स एनएसए की बैठक रूस में हुई थी, जिसमें भारत का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन की तरफ से राजनयिक यांग चिएची ने किया।

ब्रिक्स देशों के नेताओं के बीच बैठक इस बार ‘वैश्विक स्थिरता, साझा सुरक्षा और अभिनव विकास के लिए ब्रिक्स भागीदारी’ की थीम पर बेस्ड होगी। बताया जा रहा है कि 2020 में रूसी ब्रिक्स की अध्यक्षता का मुख्य उद्देश्य लोगों के जीवन स्तर और जीवन स्तर को बढ़ाने में योगदान देना है। द रशियन फेडरेशन एंटोन कोब्यकोव के एडवाइजर टू द प्रसिडेंट ने कहा कि महामारी के चलते बिगड़ी वैश्विक परिस्थिति में भी ब्रिक्स की गतिविधियां सामान्य तरीके से चल रही हैं।

उन्होने कहा कि रूस की अध्यक्षता में जनवरी 2020 से लेकर अब तचक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग समेत करीब 60 कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका हैं। बता दे इससे पहले भी भारत और चीन के बीच कई स्तर पर बातचीत हो चुकी है, लेकिन तनाव कम करने में अभी तक कुछ खास सफलता नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़े: पीएम मोदी ने कहा, देश को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में बनाएंगे वैश्विक केंद्र
यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर: पंपोर में आतंकी हमला, CRPF के दो जवान शहीद और तीन घायल