Breaking News
Home / खेल / धोनी और गांगुली मदद नहीं करते, तो बर्बाद हो जाता इस तेज़ गेंदबाज़ का करियर

धोनी और गांगुली मदद नहीं करते, तो बर्बाद हो जाता इस तेज़ गेंदबाज़ का करियर

भारतीय क्रिकेट टीम गेंदबाजी की रीढ़ मोहम्मद शमी से आज सभी क्रिकेट फैंस भली भांति परिचित हैं। उन्होंने जबरदस्त गेंदबाजी के सभी कायल हैं। मोहम्मद शमी का करियर आज बुलंदियों पर है ओर वह टीम इंडिया के लिए गौरवपूर्ण रिकॉर्ड बना रहे हैं। इसके अलावा वह आईपीएल में भी महंगे ओर सफल गेंदबाज साबित हुए हैं। लेकिन, एक वर्ष के अंतराल में उनका करियर खत्म के कगार पर पहुंच गया था। लेकिन, सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी की वजह से उनका करियर फिर पटरी पर लौट आया और वह आज फिर से बहतरीन खेल दिखा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं मोहम्मद शमी की पत्नी की हसीन जहां की जिन्होंने मोहम्मद शमी पर अचानक से यौन उत्पीडऩ , शोषण ओर पाकिस्तानी लड़कियों के साथ संबंध ओर फिक्सिंग के आरोप लगा दिये। उनके इस आरोपों से शमी का करियर बैकफुट पर आ गया और शमी की गिरफ्तारी की नौबत आ गई। शीमी के खिलाफ कई धाराओं में मामले दर्ज हो गए।

Loading...

लगने लगा था कि शमी अब शायद दोबारा नहीं खेल पाएंगे। लेकिन, धीरे धीरे हसीन जहां खुद गलत साबित होती चली गईं। लेकिन, हसीन जहां एक गलती कर बैठीं कि उन्होंने इस लड़ाई में सौरव गांगुली और एमएस धोनी तक को घसीट लिया ओर इन आरोपों का गवाह बना दिया। हसीन जहां सौरव गांगुली तक के घर पहुंच गईं और हंगामा करने लगीं।

हालांकि, सौरव और धोनी ने हसीन जहां के इस कृत्य को दरकिनार कर दिया। और शमी को पूरा सहयोग दिया और शमी को टीम से निकालने को तैयार बैठी बीसीसीआई को अंदर ही अंदर शमी को नहीं निकालने को लेकर तैयार किया। गांगुली और धोनी ने पर्दे के पीछे से शमी को हर जगह सपोर्ट किया और टीम में वापिस शमी को जगह दिलाई और शमी अपने खेल से फिर सबका दिल जीतने में कामयाब हो गए ओर अपने शानदार खेल से अपने करियर की बुलंदियों पर पहुंच गए हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *