Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / मोहन भागवत का बयान :हम कहेंगे कि मुसलमान नहीं चाहिए तो हिंदुत्व भी नहीं बचेगा

मोहन भागवत का बयान :हम कहेंगे कि मुसलमान नहीं चाहिए तो हिंदुत्व भी नहीं बचेगा

विज्ञान भवन में चल रहे RSS के कार्यक्रम के दुसरे दिन भागवत ने कहा कि विविधता में एकता, समभाव और एक दूसरे के प्रति सम्मान हिंदुत्व का भी सार है। अपने विचारों द्वारा राजनीतिक दलों और संगठनों को उन्होंने भारतीय संविधान की मंशा और हिंदुत्व के दर्शन की समानता दिखाकर चुप कराने की कोशिश की ।भागवत ने कहा कि विविधता में एकता हिंदुत्व का भी सार है। अगर कोई कहेगा कि मुसलमान नहीं चाहिए तो हिंदुत्व भी खत्म हो जाएगा। संघ संविधान के एक एक शब्द का पूरी श्रद्धा से उसका पालन करता है।

Loading...

संघ के लिए संविधान की भावना हिंदुत्व दर्शन से अलग नहीं है। कुछ लोग राजनीतिक रूप से फिट बैठने के लिए भले ही हिंदुत्व शब्द से परहेज करते हों, लेकिन हिंदुत्व दर्शन में किसी भी संप्रदाय से अलगाव नहीं है।’उन्होंने कहा खुद अंबेडकर ने कहा था कि संविधान की मंशा नागरिकों में भ्रातृत्व पैदा करना और हर व्यक्ति के लिए सम्मान सुनिश्चित करना है। जिस दिन कहेंगे कि यहां केवल वेद चलेंगे, दूसरे ग्रंथ नहीं चलेंगे उसी दिन हिंदुत्व भाव खत्म हो जाएगा। क्योंकि हिंदुत्व में वसुधैव कुटुंबकम शामिल है। जितने भी संप्रदाय जन्मे सबकी मान्यता है।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *