अवश्य पढ़ें यह खबर अगर आपके चेहरे पर आते है मुहांसे !

क्या आपके टी ज़ोन और ठोड़ी पर अक्सर मुंहासें आते रहते हैं? यह कोई असामान्य सी बात नहीं है। कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि मुंहासों का मुख्य कारण तैलीय त्वचा होती है। परन्तु यह सच नहीं है। शुष्क या मिश्र त्वचा वाले लोगों को भी मुंहासों की गंभीर समस्या होती है। आपको बता दे की टीनएजर्स में त्वचा के रोम छिद्रों का बंद होना मुंहासे आने का सबसे बड़ा कारण है और यह समस्या युवाओं में बहुत ही आम बात है।

रोम छिद्रों के बंद होने से तेल त्वचा के अन्दर ही रह जाता है। या ऐसा भी कहा जा सकता है कि तेल ग्रंथियों के अधिक सक्रिय होने के कारण भी त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। प्रोपिओबैक्टीरियम एक्ने बैक्टीरिया एक केमिकल उत्पन्न करता है जो तेल की संरचना को बदल देता है जिससे त्वचा में खुजली और जलन होती है। त्वचा में जलन के कारण लालिमा, सूजन, गर्मी और असुविधा होती है।

गर्मियों में रात को सोने से पहले स्नान करना सेहत के लिए होता है बहुत फायदेमन्द

जब शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र किसी बाहरी पदार्थ को लेने का प्रयतन करता है तो जलन होती है। आपकी ठोडी पर आने वाले मुंहासे हार्मोन्स में परिवर्तन का संकेत करते हैं। सेबेशियास ग्रंथियां हार्मोन्स के नियंत्रण में होती हैं विशेष रूप से एंड्रोजन। सेबेशियस ग्रंथियां एंड्रोजन के परिसंचरण के प्रति बहुत संवेदनशील होती हैं।

यह भी पढ़ें-

अपनाये ये आसान उपाय अपने स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए !