इन बीमारियों में बहुत फायदेमंद होता है सरसों का तेल

जैसा की आप सभी जानते है की सरसों दो प्रकार की होती है। पीली और लाल, गुणवत्ता के मामले में पीली सरसों बहुत अच्छी होती है। जानिए सरसों से होने वाले तमाम फायदे..

दांत दर्द- तकरीबन एक से दो बार सरसों का तेल एक नथुने से सूंघने पर दांत का दर्द कुछ समय के लिए स्वतः बंद हो जाता है। इसे सूंघने से नाक, कान, नेत्र और सिर को बहुत शक्ति मिलती है।

मंजन- बहुत बारीक सेंधा नमक, नीबू का रस, जरा सी फिटकरी सरसों के तेल में मिलाकर नित्य मंजन करने से दांतों और मसूढ़ों की गंभीर बीमारियां, दातों के कीड़े, दर्द, मसूढ़े फूलना स्वतः बंद होकर दांत मजबूत और विल्कुल साफ हो जाते हैं। पाचन संस्थान विल्कुल ठीक रहता है।

मालिश- शीत ऋतु में त्वचा की रुक्षता मिटाने एवं स्निग्ध बनाए रखने के लिए शरीर की मालिश अवश्य करनी चाहिए। इससे त्वचा बहुत सुंदर दिखती है। मालिश के लिए सरसों का तेल अवश्य उपयोग में लीजिए।

रात को सोते समय सरसों के तेल की मालिश करने से कतई मच्छर नहीं काटते। कसरत से थकान होने पर पैरों पर मालिश करने से बहुत लाभ होता है।

Loading...