म्यांमार: प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों में तीखी झड़प के बाद हालात अत्यंत खराब

म्यांमार में सेना द्वारा सरकार को अपदस्थ करके शासन की बागडोर अपने हाथों में लेने के बाद आम जनता सड़क पर उतर आई है। तख्तापलट के खिलाफ मंगलवार से यंगून में एक बार फिर विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया। सोमवार को सुरक्षा बलों से प्रदर्शनकारियों की झड़प हुई थी। इसके बाद प्रदर्शन दोबारा से शुरू हो गए। सेना ने देर रात इंटरनेट सेवा पर पूरी तरह से बैन लगा दिया।

सैन्य सरकार ने बीते हफ्तों में सोशल मीडिया पर चुनिंदा और अप्रभावी रोक लगाने की कोशिश की थी। सेना ने अब इंटरनेट पर कानून का मसौदा तैयार किया है। इसमें इंटरनेट पर कई गतिविधियां को अपराध की श्रेणी में लाया गया है। बता दें, राजधानी यांगून और अन्य शहरों में प्रदर्शनकारियों के समूहों ने एक फरवरी को हुए सैन्य तख्तापलट के खिलाफ और देश की निर्वाचित नेता आंग सान सू ची व उनकी अपदस्थ सरकार के सदस्यों को हिरासत से रिहा की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

मुस्लिम कारोबारी ने राम मंदिर निर्माण के लिए दी बड़ी राशि, हैरत में पड़ गए विहिप कार्यकर्ता