नवंबर में पांच बार वर्चुअल मंचों पर आमने-सामने होंगे नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग

भारत चीन सीमा तनाव के बीच इस महीने नवंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग पांच बार अलग-अलग शिखर सम्मेलनों के वर्चुअल मंचों पर आमने-सामने होंगे। रूस में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में दोनों इस महीने में पहली बार आमने-सामने होंगे। इससे पहले दोनों नेता जी-20 देशों के वर्चुअल सम्मेलन में अप्रैल में एक मंच पर मिले थे। नवंबर विदेश मामलों के लिए 2020 का व्यस्ततम महीना होगा।

मोदी और जिनपिंग एससीओ बैठक के बाद 17 नवंबर को रूस में ही ब्रिक्स और 21 व 22 नवंबर को सऊदी अरब की मेजबानी में जी-20 देशों की बैठक में एक बार फिर वर्चुअल स्क्रीन साझा करेंगे। इसके बाद 11 नवंबर को पूर्वी एशियाई सम्मेलन और 30 नवंबर को सरकार के प्रमुखों की बैठक एससीओ परिषद में भी दोनों नेताओं का आमना-सामना होने की पूरी संभावना है। 30 नवंबर की बैठक की मेजबानी खुद दिल्ली करेगा।

विदेश मंत्रालय सभी शिखर सम्मेलनों की व्यस्त तैयारी कर रहा है। जिसमें सर्वाधिक जोर कोरोना का टीका निर्माण और वितरण में भारत के प्रयासों को आगे बढ़ाने पर होगा। साथ ही कोरोना के बाद बहुपक्षीय संस्थानों में वैश्विक सुधार पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा। कोई द्विपक्षीय करार नहीं होगा।

यह भी पढ़े: हरियाणा में पटाखे बेचना और रखना अपराध घोषित, पकड़े जाने पर मिलेगी कड़ी सजा
यह भी पढ़े: अमेरिका में भारतवंशी मुस्लिम युवक की हत्या, पत्नी ने मांगी भारत सरकार से मदद