नवरात्रि फास्टिंग टिप्स : डायबिटीज़ के रोगियों के लिए इन बातों का ध्यान रखना है बेहद महत्वपूर्ण

नवरात्रि का त्यौहार शुरू हो चुका है और आज इसका दूसरा दिन है। इस त्यौहार पर अधिकतर लोग नौ दिनों का व्रत रखते हैं और मां की आराधना करते हैं। इस त्यौहार में फलहार का भी अधिक महत्व है। उपवास करने वाले लोग खासकर इन नौ दिनों में प्याज व लहसुन से बना खाना, नॉन-वेज या फिर साबूत खाना अवॉइड करते हैं। इन नौ दिनों के दौरान साबूदाना, सामे का चावल आदि चीज़ें व्रती द्वारा खाई जाती हैं। यदि आप डायबिटीज़ के पेशेंट हैं और फ़ास्ट रख रहे हैं तो नवरात्री के दिनों में अपने खानपान का ख्याल रखना भी बेहद जरूरी है।  आइए जानें किन बातों पर आपको ध्यान देना चाहिए : –

  1. देर तक भूखे न रहें

मधुमेय के रोगियों को नवरात्रि के व्रत में लंबे समय तक भूखा नहीं रहना चाहिए। यदि आप ज्यादा देर तक भूखे रहेंगे तो आपको कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जितना हो सके व्रत में थोड़ी-थोड़ी देर के बाद अपने स्वास्थ के हिसाब से कुछ ना कुछ खाते रहें। ऐसा करने से आप व्रत में फिट भी रह सकेंगे।

2. कैफीन युक्त चीज़ों का सेवन ना करें 

डायबिटीज़ के रोगियों को चाय या कॉफी फलहार में नहीं लेनी चाहिए। आप इसकी बजाए छाछ, नींबू पानी ले सकते हैं। जितना हो सके व्रत में मीठे या फिर वसायुक्त चीजों को खाने से बचें।

3. ये चीज़ें खाएं 

अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं और नौ दिनों तक व्रत रखने का विचार कर रहे हैं तो ऐसे में आप सेब, संतरा, अंजीर, चेरी, स्ट्राबेरी आदि चीज़ों का सेवन कर सकते हैं। इन सभी चीज़ों में ग्‍लाइसेमिक इंडेक्स कम पाया जाता है। इनका सेवन करने से आपका ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहेगा।

4. कम मात्रा में खाना खाएं

अगर आप व्रत कर रही हैं तो एक बार में ज्यादा मात्रा में खाना खाने से बचें। इसकी बजाए हर थोड़ी देर में खाते रहें। ऐसा करने से आपका स्वास्थ्य खराब नहीं होगा। वहीं, यदि आप एक बार में ज्यादा खाना खा लेते हैं तो ऐसे में आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। फलहार में साबुदाना, टिक्की आदि चीज़ों का सेवन कम मात्रा में करें औऱ आलू खाने से बचें।

यह भी पढ़ें : अगर आप रोजाना दूध पीतें हैं तो इन बातों का रखें खास ध्यान

हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है चावल का पानी

Loading...