बाढ़ से निपटने को पैसे चाहिए, यहां सबका स्वागत; शिवसेना के बागी विधायकों पर बोले हिमंता बिस्वा सरमा

महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक उथल-पुथल के बीच शिवसेना के असंतुष्ट नेता एकनाथ शिंदे पार्टी के कुछ विधायकों के साथ असम पहुंचे। शिंदे और उनके साथ विधायकों को गुवाहाटी के एक लग्जरी होटल में ठहराया गया है। शिवसेना के असंतुष्ट विधायकों के असम पहुंचने पर राज्य के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा कि वह सभी का स्वागत करते हैं

विनाशकारी बाढ़ से निपटने के लिए राज्य को राजस्व की जरूरत है उन्होंने बिना किसी मुद्दे का नाम लेते हुए कहा कि अगर असम एक अंतर्राष्ट्रीय राजनीतिक केंद्र बन जाता है, तो उन्हें खुशी होगी। हिमंता बिस्वा सरमा ने एक कार्यक्रम से इतर मीडिया से बात करते हुए कहा गुवाहाटी में कई लग्जरी होटल हैं और अगर कमरे भरे हुए हैं, तो हमें खुश होना चाहिए क्योंकि इससे राजस्व आएग। हम जीएसटी के जरिए कमाएंगे और राज्य में विनाशकारी बाढ़ के इन कठिन समय में हमें इसकी आवश्यकता होगी।

हम सभी पर्यटकों का स्वागत करते हैं

पूर्वोत्तर राज्य असम के 32 जिलों में कुल 55 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। आपदा के कारण 89 नागरिकों की जान चली गई है। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘उनकी यात्रा के संबंध में किसी भी विवाद का कारण क्यों होना चाहिए? हम सभी पर्यटकों को राज्य में आने का स्वागत करते हैं क्योंकि हमें बाढ़ से निपटने के लिए पैसे की जरूरत है। हमें देवी लक्ष्मी को क्यों दूर करना चाहिए। जबकि फिलहाल हमारे अधिकांश होटल खाली हैं या फिर कम भरे व्यस्त हैं?’

विधायकों से मिलने के सवाल पर दिया यह जवाब

यह पूछे जाने पर कि क्या वह महाराष्ट्र के असंतुष्ट विधायकों से मिलेंगे, सरमा ने कहा कि उन्हें ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर मैं मैनेज कर सकता हूं, तो शायद में उनसे पांच मिनट के लिए मिलूंगा। मेरे कुछ सहयोगी विधायक उनके संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह बाढ़ की स्थिति से निपटने में व्यस्त हैं और बुधवार को नगांव और गुरुवार को सिलचर का दौरा करेंगे।

यह पढ़े: न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड की प्लेइंग इलेवन का ऐलान, जेम्स एंडरसन हुए बाहर