नीम पीएच स्तर को नियंत्रित करने के साथ-साथ अल्सर होने से भी रोकता है जानिये कैसे ?

पेट की बीमारियों के लिए भी नीम काफी उपयोगी माना जाता है। नीम पीएच स्तर को नियंत्रित करने के साथ-साथ अल्सर होने से भी रोकता है।
नीम की दातुन दांतों को चमकाने के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है। नियमित रूप से नीम की दातुन का इस्तेमाल करने से दांतो में पाये जाने वाले कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। साथ ही इससे मसूड़े मजबूत, दांत चमकीले और निरोगी हो जाते हैं।
अगर आपके कान में दर्द रहता है तो नीम का तेल इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद रहेगा।
अगर आप खाना बनाते वक्त या किसी दूसरे कारण से अपना हाथ जला बैठी हैं तो तुरंत उस जगह पर नीम की पत्तियों को पीसकर लगा लें। इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुण घाव को ज्यादा बढ़ने नहीं देता है।
नीम की पत्तियां शरीर में शूगर के स्तर को नियंत्रित रखने में काफी मदद करती हैं। ऐसा माना जाता है की नीम एक तरीके से इंसुलिन का काम करता है।