विश्व मुक्केबाजी के क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं नीतू और मनीषा

भारत की नीतू ने शनिवार को 48 किग्रा भार वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में स्पेन की मार्टा लोपेज डेल अर्बोल को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराकर तुर्की के शहर इस्तांबुल में जारी 12वीं आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

नीतू के बाद 2019 एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य विजेता मनीषा (57 किग्रा) ने भी अंतिम आठ में जगह बना ली।

पहले राउंड में नीतू ने सावधान शुरुआत की और मार्टा के मुक्कों के बचती रहीं लेकिन एक मिनट बीतने के बाद वह हावी हो गईं और बेहतरीन फुटवर्क के साथ सही समय पर जबरदस्त पंच मारकर सभी जजों को प्रभावित करने में सफल रहीं।

दूसरे राउंड में मार्टा ने वापसी की जोरदार कोशिश की लेकिन नीतू अपनी लय पर कायम रहीं औऱ अच्छे बचाव के साथ जोरदार घूंसे लगाती रहीं। इस राउंड में भी वह सभी जजों को प्रभावित करने में सफल रहीं। तीसरे राउंड में भी यही आलम रहा। नीतू ने मार्टा को हावी होने का कोई मौका नहीं दिया और सर्वसम्मत फैसले के साथ विजेता घोषित हुईं।

क्वार्टर फाइनल में नीतू का सामना सोमवार को कजाकिस्तान की अलुआ बाल्किबेकोवा से होगा, जिन्होंने सर्बिया की स्नेजाना सिलजकोविच को हराया।

बाद में मनीषा (57 किग्रा) ने अपने प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बुल्गारिया की स्वेतलाना स्टानेवा को 4-1 से हराया । मनीषा का अगले दौर में सामना युवा विश्व कांस्य पदक विजेता मंगोलिया की नामुन मोनखोर से सोमवार को होगा।

रविवार को निखत समेत 6 भारतीय मुक्केबाज अंतिम-16 दौर के मुकाबलों में एक्शन में होंगी। निखत (52 किग्रा) और शिक्षा (54 किग्रा) का अगला मुकाबला क्रमशः मंगोलिया की लुत्सैखान अल्तांतसेटसेग और युवा एशियाई कांस्य पदक विजेता येसुगेन ओयुंटसेटसेग से होगा, जबकि परवीन पूर्व युवा ओलंपिक चैंपियन अमेरिका की जजैरा गोंजालेज से भिड़ेंगी।इसी तरह, अनामिका (50 किग्रा) का सामना विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता ऑस्ट्रेलिया की क्रिस्टी ली हैरिस से होगा जबकि जैस्मीन (60 किग्रा) का सामना ऑस्ट्रेलिया की एंजेला हैरिस से होगा।

इस बीच, 2017 यूथ वर्ल्ड चैंपियन अंकुशिता (66 किग्रा) पोलैंड की अनीता रायगिल्स्का के खिलाफ विश्व चैंपियनशिप में पदार्पण करेंगी।

यह भी पढ़ें:श्रीलंका की मदद के लिए फिर आगे आया भारत, 65 हजार टन यूरिया की तत्काल करेगा सप्लाई