मां बनने के बाद बढ़ा Neha Dhupia का वजन, डिजाइनर्स ने किया काम करने से इनकार, बोलीं- कुछ फिट नहीं हो रहा था

नेहा धूपिया ने कहा कि मेहर को जन्म देने के आठ महीने बाद वह पोस्टपार्टम डिप्रेशन में चली गई थीं. दूसरी बार जब बेटे के जन्म देने के बाद उनके साथ ऐसा हुआ तो वह तेजी से इससे बाहर आ गईं.

बॉलीवुड एक्ट्रेस नेहा धूपिया भले ही आजकल फिल्म इंडस्ट्री में एक्टिव न हों, लेकिन सोशल मीडिया पर वह काफी एक्टिव रहती हैं. मुद्दों पर अपनी राय खुलकर रखती हैं. साथ ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर भी खुलकर बोलती हैं. साल 2018 में जब नेहा धूपिया ने बेटी मेहर को जन्म दिया था तो वह पोस्टपार्टम डिप्रेशन में चली गई थीं. हालांकि, अब वह ठीक हैं. दो बच्चों की मां बनने के बाद वह अपनी बॉडी इमेज को पॉजिटिवली लेती हैं. पहले से वह थोड़ा वजन बढ़ा चुकी हैं, लेकिन स्टाइलिंग के मामले में अच्छे-अच्छों को टक्कर देती हैं. नेहा धूपिया का कहना है कि वह साइज जीरो नहीं होना चाहतीं, लेकिन फिट जरूर रहना चाहती हैं.

नेहा ने किया रिएक्ट

फिल्मफेयर संग बातचीत में नेहा धूपिया ने बताया कि बेटी मेहर के जन्म के बाद जब उनका वजन बढ़ा तो लोगों ने उन्हें काफी ट्रोल किया. नेहा धूपिया ने कहा, “जिस दिन आप बेबी को जन्म देते हो, वह फीलिंग काफी अलग होती है. चार दिन बाद जब आप घर आते हो, सभी आपको बधाई दे रहे होते हैं. जब 12 बजे रात में आधा घर सो चुका होता है तो आप केवल बच्चे के साथ रात में जगे होते हो. आप काम पर वापसी करने का सोचते हो, काम पर जाते हो, वापस आते हो और जब आप बेबी को जन्म देने के बाद किसी प्रोजेक्ट के लिए कपड़े ट्राय करते हो तो लोग कहते हैं, ओह्ह तुम्हें कुछ फिट नहीं बैठ रहा. एक काम करते हैं, बाद में कुछ वर्कआउट करते है. आपके प्रति लोग सेंसिटिव नहीं होते हैं. आप घर वापस आते हो, अपने प्यारे बेबी को उठाते हो, उसे फीड करते हो और फिर वही रात में दोबारा से चीजें शुरू हो हो जाती हैं. मैं इन सबसे जूझ चुकी हूं और इनसे सीखा भी है.”

नेहा धूपिया ने कहा कि मेहर को जन्म देने के आठ महीने बाद वह पोस्टपार्टम डिप्रेशन में चली गई थीं. दूसरी बार जब बेटे के जन्म देने के बाद उनके साथ ऐसा हुआ तो वह तेजी से इससे बाहर आ गईं. लोग जानते थे कि मैं किस स्थिति से डील कर रही हूं. कई डिजाइनर्स ऐसे रहे, जिन्होंने मेरी क्लोदिंग में मदद की. कई डिजाइनर्स ने बुरा महसूस कराया यह कहकर कि नेहा तुम्हें कुछ भी फिट नहीं हो रहा है. हम तुम्हारे लिए काम नहीं कर सकते. उन्होंने डिजाइनर्स के इस बर्ताव को डबल स्टैंडर्ड बताया.

नेहा ने कहा कि यह गेम का हिस्सा है. अगर लोग किसी को इस तरह ट्रीट करना चाहते हैं तो कोई बात नहीं, करते रहें. मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि मैं अकेली नहीं, जिसके साथ समाज यह सब करता है और न ही आखिरी हूं, जिसके साथ समाज करेगा. मैं बस इतना कहना चाहती हूं कि किसी को इन चीजों या बातों से फर्क नहीं पड़ना चाहिए.