बार बार होने वाले सिर दर्द को कभी भी ना करें नजरअंदाज

अगर आपके सिर में हमेसा दर्द होता रहता है या बोलने, देखने और सुनवाई में कुछ बदलाव महसूस कर रहे हैं तो आप इसे नजर अंदाज भी ना करें, ये लक्षण ब्रेन ट्यूमर जैसी बड़ी बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं। इससे ना सिर्फ आपके दिमाग पर असर पड़ता है, बल्कि इससे आपकी जान को भी बहुत ज्यादा खतरा हो सकता है। बता दें कि ब्रेन ट्यूमर मस्तिष्क में पायी जाने वाली कोशिकाओं की असामान्य या अनियंत्रित बढ़ोतरी की वजह से होता है। वैसे कई अनावश्यक कोशिकाएं खुद हो जाती है, लेकिन इनके खत्म ना होने और अतिरिक्त कोशिकाओं के निर्माण को ट्यूमर भी कहा जाता हैं। बता दें कि प्राथमिक ब्रेन ट्यूमर दिमाग के अंदर शुरू होता है और पूरे शरीर में पूरी तरह फैल भी जाता है।

ब्रेन ट्यूमर के लक्षण- ब्रेन ट्यूमर किसी भी उम्र में हो सकता है और इसके होने के कारण अभी स्पष्ट भी नहीं है। ब्रेन ट्यूमर में जेनेटिक कारक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सिर दर्द के साथ साथ चलने या संतुलन में समस्याएं भी इसका लक्षण हैं। साथ ही मरीज को यादाश्त से जुड़ी हुई दिक्कतें भी शुरू हो जाती है। हाथ व पैरों में सुन्न या झुनझुनी बहुत होने लगती है। इसकी स्थिति में असामान्य थकान और थकावट भी होने लगती है। ट्यूमर के लक्षण, उनके उपस्थित होने की स्थिति के साथ जुड़े हुए होते हैं। इससे शरीर के एक हिस्से में अस्थिरता और कमजोरी रहती है और आपके व्यक्तित्व में भी बदलाव होने लगता है।

अगर इसके होने की वजह की बात करें तो ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित होने का कोई विशेष कारण नहीं है। जीन्स में होने वाले निश्चित परिवर्तन को कुछ तरह के ट्यूमर को पैदा करने का मुख्य कारण माना जा सकता है। मोबाइल फोन जैसे उपकरणों की विकरण विभिन्न तरह के कैंसर और ब्रेन ट्यूमर को पूरी तरह उत्पन्न कर सकती है, लेकिन यह व्यापक रूप से बहस का विषय है। हालांकि, इस तथ्य को अभी तक साबित नहीं किया गया है। इसका इलाज सर्जरी, रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी, स्टेरॉयड, दवाइयों के माध्यम से ही किया जाता है।

यह भी पढ़ें –

हो सकते हैं बीमार खाने की आदतों में अचानक बदलाव से