निकाय चुनाव को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान

मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव (MP Election 2022) में महापौर, नगर पालिका अध्यक्ष और नगर परिषद अध्यक्षों को कौन चुनेगा इसको लेकर खबर सामने आई थी की तीनों पदों का चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से किया जाएगा। जनता सीधे महापौर और अध्यक्षों का चुनाव करेंगी। साथ ही खबर यह भी थी कि सरकार ने इसके लिए अध्यादेश राज्यपाल को भेज दिया है। लेकिन हाल ही में सरकार के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने एक बयान में कहा है कि प्रत्यक्ष चुनाव के लिए कोई अध्यादेश नहीं भेजा गया है। निकाय या पंचायत चुनाव (MP Election 2022) से संबंधी कोई भी अध्यादेश नहीं भेजा गया।

बता दें कि इससे पहले खबर थी कि शिवराज सरकार ने अपने ही निर्णय को पलटते हुए बड़ा फैसला लिया है। अब महापौर, नपाध्यक्ष और नगर परिषद अध्यक्षों को पार्षद नहीं, बल्कि जनता ही चुनेगी। यानी चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से ही करवाए जाएंगे। इसके लिए सरकार ने अध्यादेश दोबारा राजभवन भेज दिया है। जिसके बुधवार को ही मंजूर होने की संभावना है। इसके बाद नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। बताया जा रहा था कि सीएम शिवराज सिंह ने बीती रात पार्टी नेताओं से चर्चा करने के बाद यह बड़ा फैसला लिया है। राज्यपाल के पास अध्यादेश को मंजूरी लेने से पहले सीएम ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा से फोन पर बात की। इसके बाद कैबिनेट के मंत्रियों से चर्चा की इसके बाद सीएम शिवराज बीजेपी दफ्तर पहुंचे और पार्टी नेताओं के साथ रायशुमारी कर प्रत्यक्ष प्रणाली पर मुहर लगाई।

आपको बता दें कि कमलनाथ सरकार ने अप्रत्यक्ष प्रणाली से चुनाव कराने का निर्णय लिया था। लेकिन बीजेपी की सरकार बनने के बाद शिवराज ने कमलनाथ के निर्णय को अध्यादेश लाकर पलट दिया था।

यह भी पढ़ें:

सरकार के इस फैसले के बाद 5 रुपये तक सस्ता हो सकता है खाद्य तेल, चीनी भी नहीं लगेगी कड़वी!