सर्दी-जुकाम ही नहीं, और भी गंभीर बीमारियों की दवा है अदरक

अदरक घर में मौजूद एक ऐसी चीज है, जिसका इस्तेमाल कई स्वास्थ्य समस्याओं में किया जाता है। अदरक कीमोथेरेपी, मोशन सिकनेस और सर्जरी के परिणामस्वरूप मिचली को रोकने के लिए उपयोग किया जाता है। अदरक मिचली को कम करने के लिए सीधे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल पर कार्य करने के लिए माना जाता है। इसके अलावा अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण भी होता है जो शरीर में होने वाले सूजन को भी कम करता है। इसका उपयोग अपर रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट के इंफेक्शन, खांसी और ब्रोंकाइटिस के इलाज के लिए किया जा सकता है। सर्दी-जुकाम के लिए भी यह काफी फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं अदरक का इस्तेमाल और किन स्वास्थ्य समस्या के लिए फायदेमंद होता है-

अदरक का ताजा रस स्किन के इलाज के लिए किया जा सकता है। अदरक के सक्रिय घटक का उपयोग एक रेचक और एंटासिड दवा के रूप में किया जाता है

अदरक शरीर को गर्म करने में मदद करता है, साथ ही सर्कुलेशन को बढ़ाने और हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए उपयोग किया जाता है।

अदरक में वार्मिंग इफेक्ट होता है जो सर्दी और फ्लू के उपचार के लिए एंटी-वायरल के रूप में कार्य करता है। साथ ही यह बलगम और कफ को भी कम करने में मदद करता है। अदरक का इस्तेमाल गले की खराश और दर्द को कम करता है।

प्रीक्लिनिकल अध्ययनों से पता चला है कि अदरक के अर्क और इसके घटकों में गैस्ट्रिक कैंसर को कंट्रोल करने वाले केमोप्रेंटिव और एंटीनियोप्लास्टिक गुण होते हैं। इन विट्रो अध्ययन में पता चला है कि 6-जिंजरॉल गैस्ट्रिक कैंसर कोशिकाओं के एपोप्टोसिस को प्रेरित करता है। इस प्रकार, अदरक का अर्क एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करके अल्सर के उपचार को बढ़ावा देता है और गैस्ट्रिक श्लैष्मिक क्षति को रोकता है।

अदरक और इसके घटक अग्नाशय के कैंसर(pancreatic cancer) के खिलाफ भी प्रभावी होता है। अध्ययन से पता चला है कि 6-जिंजरोल जंक्शन-रिलेटेड प्रोटीन को रेगुलेट करता है और अग्नाशयी कैंसर कोशिकाओं के आक्रमण और मेटास्टेसिस को दबा देता है।

इन विट्रो अध्ययनों से पता चलता है कि अदरक घटक लीवर कैंसर के लिए भी प्रभावी होता है। अदरक का तेल अधिक सूजन को कम करने में मदद करता है।

यह भी पढे –

नुकसान भी कर सकता है बादाम का अत्यधिक सेवन, जानें कितना खाना होगा उचित